'उस वक्त मेरे पास खोने के लिए कुछ नहीं था'- GT के खिलाफ मैच विनिंग गेंदबाजी करने के बाद सैम्स का बयान - क्रिकट्रैकर हिंदी

‘उस वक्त मेरे पास खोने के लिए कुछ नहीं था’- GT के खिलाफ मैच विनिंग गेंदबाजी करने के बाद सैम्स का बयान

गुजरात टाइटंस को आखिरी ओवर में 9 रन की जरूरत थी।

Daniel Sams. (Photo Source: IPL/BCCI)
Daniel Sams. (Photo Source: IPL/BCCI)

केकेआर के खिलाफ एक ओवर में 35 रन लूटाने के कुछ दिनों बाद ही, डेनियल सैम्स ने टेबल टॉपर्स गुजरात टाइटंस के खिलाफ मैच में आखिरी ओवर में शानदार गेंदबाजी कर खुद को एक बेहतर गेंदबाज साबित किया। जीटी को आखिरी ओवर में नौ रन चाहिए थे और क्रीज पर डेविड मिलर और राहुल तेवतिया जैसे फिनिशर मौजूद थे। दोनों के हालिया फॉर्म को देखते हुए ऐसा लग रहा था कि गुजरात ये मुकाबला आसानी से जीत लेगी लेकिन, उस दबाव वाले स्थिति में डेनियल सैम्स ने ऐसी गेंदबाजी की जिसकी उम्मीद किसी को नहीं थी।

बाएं हाथ के ऑस्ट्रेलियाई पेसर ने आखिरी ओवर में अपनी धीमी गेंदों का इस्तेमाल बेहतरीन तरीके से किया और सिर्फ तीन रन दिए, और MI ने पांच रनों से एक रोमांचक जीत हासिल की। आखिरी ओवर में अपनी मानसिकता के बारे में बोलते हुए सैम्स ने कहा कि लक्ष्य को देखने के बाद उन्हें लगा कि उनके पास खोने के लिए कुछ नहीं है और उन्होंने खुद पर ज्यादा दबाव नहीं डाला। ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज ने यह भी कहा कि उन्होंने धीमी गेंदों के साथ बल्लेबाजों को चकमा देने की अपनी क्षमता को बैक किया।

मैच के बाद क्या बोले डेनियल सैम्स?

आखिरी ओवर को लेकर मैच के बाद हुए प्रेस में कॉन्फ्रेंस में डेनियल सैम्स ने कहा कि, “6 गेंद पर बस 9 रन की जरूरत थी। मेरे पास खोने के लिए कुछ नहीं था क्योंकि सभी आंकड़े बल्लेबाजों के पक्ष में जाते नजर आ रहे थे। मैं कुछ गेंदें वाइड आउटसाइड ऑफ पर रखने में कामयाब रहा। मेरी कोशिश थी कि मैं अपनी सबसे अच्छी गेंदें डालूं। मैं अपनी स्लोअर गेंदों पर वापस गया और ये गेंदें कारगर साबित हुईं।”

बता दें कि MI, इस सीजन अपने पहले आठ मैच हार कर, पहले ही IPL 2022 प्लेऑफ की दौड़ से बाहर हो गई थी और GT के खिलाफ मिले जीत से उन्हें कुछ अधिक फायदा नहीं हुआ। सैम्स ने कहा कि, “आठ हार के बाद, हमने इसे छह मैचों के साथ एक मिनी-आईपीएल के रूप में देखा। हम यह दिखाने की कोशिश कर रहे हैं कि हम क्या कर सकते हैं और यह हमारे आत्मविश्वास को बढ़ाने में मदद करेगा।”

इस बीच, MI के कप्तान रोहित शर्मा भी डेनियल सैम्स की इस वापसी से काफी प्रभावित थे। उन्होंने कहा कि, “वह कुछ मैचों में दबाव में था, लेकिन मैंने उसे ऑस्ट्रेलिया और बीबीएल के लिए खेलते हुए देखा है, उसके पास बहुत कौशल है। नौ रनों का बचाव करना आसान नहीं था।”