दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाजों को चौथे वनडे मैच से पहले एक भारतीय स्पिनर ने नेट्स में कराई गेंदबाजी - क्रिकट्रैकर हिंदी

दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाजों को चौथे वनडे मैच से पहले एक भारतीय स्पिनर ने नेट्स में कराई गेंदबाजी

Yuzvendra Chahal & Kuldeep Yadav. (Photo Source: Twitter)
Yuzvendra Chahal & Kuldeep Yadav. (Photo Source: Twitter)

दक्षिण अफ्रीका और भारत के बीच में 6 मैच की वनडे सीरीज का चौथा वनडे मैच में 10 फरवरी को जोहान्सबर्ग के मैदान में खेला जाएगा जिसके लिए दक्षिण अफ्रीका पहले तीन वनडे मिली हार को भुलाकर मैदान में उतरना चाहेगी और इस मैच में अफ्रीका की टीम के लिए राहत की खबर ये है कि एबीडी विलियर्स फिट होकर फिर से वापसी करने के लिए तैयार है जिससे अफ्रीका टीम की जो बल्लेबाजी अभी तक दोनों भारतीय स्पिन गेंदबाजों के आगे कमजोर नजर आयीं उसे मजबूती मिलेगी.

चहल और कुलदीप के सामने नजर आयें कमजोर

भारतीय टीम के लिए तीनों वनडे मैच में जीत हासिल करने के पीछे जो सबसे बड़ी वजह रही है वह भारतीय टीम का दो लेग स्पिन गेंदबाजों का खिलाना जिसमे युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव ने पहले तीन वनडे मैच में अफ्रीका टीम के कुल 21 विकेट अपने नाम पर किये जिसने सभी को समय सकते में डाल रखा है क्योंकी अफ्रीका में पहली बार स्पिन गेंदबाजों का ऐसा प्रदर्शन देखने को मिला है और इसी कारण अब अफ्रीका के बल्लेबाज इस चुनौती से निपटने के लिए एक भारतीय की मदद ले रहे है.

जबलपुर का लेग स्पिनर कर रहा मदद

जोहान्सबर्ग में चौथे वनडे मैच से पहले अफ़्रीकी टीम को एक भारतीय लेग स्पिनर नेट्स पर गेंदबाजी करता हुआ नजर आया जो जबलपुर के रहने वाले अजय राजपूत है. अजय इस समय जोहान्सबर्ग प्रीमियर लीग में खेल रहे है जिसमे उन्होंने सबसे अधिक विकेट ले रखे है. अजय एक ऑफ स्पिनर होने साथ लेग स्पिन गेंदबाजी भी कर लेते है. 2013-14 के रणजी सीजन में भी अजय खेल चुके है.

यहाँ पर और भारत में बाउंस का अंतर है

अजय राजपूत को जोहान्सबर्ग क्रिकेट क्लब के चेयरमैन ने दक्षिण अफ़्रीकी टीम को नेट्स में गेंदबाजी करने के लिए बुलाया था जिसके बाद अजय ने अपन ए इस अनुभव के बारे में बोलते हुए कहा कि “दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाजों को ऐसा लगता है कि चहल और कुलदीप काफी धीमी गेंदबाजी कर रहे है हवा में जिससे गेंद को घूमने का समय मिल रहा है इसलिए मुझे गेंद में फ्लाईट करने के लिए कहा गया. यहाँ पर भारत में गेंदबाजी में सिर्फ इतना बाउंस अंतर है.