मांजरेकर ने साधा रहाणे पर निशाना, कहा- 'अब उन्हें फर्स्ट क्लास क्रिकेट खलने की जरुरत' - क्रिकट्रैकर हिंदी

मांजरेकर ने साधा रहाणे पर निशाना, कहा- ‘अब उन्हें फर्स्ट क्लास क्रिकेट खलने की जरुरत’

2021 में टेस्ट क्रिकेट में अजिंक्य रहाणे का औसत 20.25 का रहा है।

Sanjay Manjrekar and Ajinkya Rahane
Sanjay Manjrekar and Ajinkya Rahane. (Photo Source: Getty Images)

जोहान्सबर्ग में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पिछले टेस्ट में एक शानदार अर्धशतक बनाने के बाद, टीम इंडियन टेस्ट विशेषज्ञ अजिंक्य रहाणे न्यूलैंड्स, केपटाउन में सीरीज के निर्णायक मैच में बेअसर दिखे, मुकाबले के दोनो पारियों में केवल 10 रन ही बना सके। दूसरी पारी में सिर्फ एक रन बनाकर वह कगिसो रबाडा की गेंद पर पहली स्लिप में कप्तान डीन एल्गर को कैच थमा बैठे और पवेलियन को लौट गए।

पिछले कुछ समय से उनके खराब फॉर्म के चलते लगातार टीम में उनके जगह को लेकर भी लगातार सवाल खड़े हो रहे हैं। पूर्व क्रिकेटर संजय मांजरेकर चाहते हैं कि रहाणे वापस जाएं और अपना खोया हुआ फॉर्म वापस पाने के लिए प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेलें। चल रहे मुकाबले में उनके आउट होने के तरीकों का विश्लेषण करते हुए, मांजरेकर ने कहा कि इसमें अच्छी गेंद के साथ-साथ मध्य क्रम के बल्लेबाज की फॉर्म का भी योगदान है।

रहाणे को अब फर्स्ट क्लास क्रिकेट खेलने की जरूरत है- संजय मंजरेकर

ESPNcricinfo से बातचीत के दौरान संजय मांजरेकर ने कहा कि, “उन्हें (रहाणे) वापस जाने और प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेलने की जरूरत है। उम्मीद है कि वह फॉर्म में वापसी करेंगे। मैं रहाणे को एक और पारी नहीं दूंगा। पुजारा फिर भी मजबूत नजर आ रहे हैं।”

मांजरेकर ने आगे कहा कि, “पिछले 3-4 साल में अजिंक्य रहाणे के बारे में कुछ भी मुझे उम्मीद नहीं देता है कि वह फॉर्म में आ रहे हैं। मेलबर्न में जब उन्होंने शतक जड़ा तो कुछ झलक देखने को मिली लेकिन, इसके अलावा उन्होंने ज्यादा कुछ नहीं किया।”

पिछले साल ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एमसीजी में अपनी मैच जीताऊ 112 रनों की पारी के बाद से, अजिंक्य रहाणे WTC फाइनल और इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज सहित कोई भी सीरीज में प्रभावशाली पारी नहीं खेल पाए हैं। 2021 में, पूर्व भारतीय टेस्ट उप-कप्तान 15 मैचों में सिर्फ 20.25 की औसत से 547 रन ही बना सके। इस दौरान उन्होंने सर्वश्रेष्ठ स्कोर 67 के साथ तीन अर्धशतक लगाए।