द एशेज 2021-22 के बॉक्सिंग-डे टेस्ट मैच के पहले दिन इस वजह के चलते इंग्लैंड के खिलाड़ी काली पट्टी पहनकर उतरे खेलने - क्रिकट्रैकर हिंदी

द एशेज 2021-22 के बॉक्सिंग-डे टेस्ट मैच के पहले दिन इस वजह के चलते इंग्लैंड के खिलाड़ी काली पट्टी पहनकर उतरे खेलने

एशेज 2021-22 का तीसरा टेस्ट मैच बॉक्सिंग-डे के दिन मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड में खेला जा रहा है।

England. (Photo by Robert Cianflone/Getty Images)
England. (Photo by Robert Cianflone/Getty Images)

द एशेज 2021-22 का तीसरा टेस्ट मैच ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच 26 दिसंबर से ऐतिहासिक मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड में खेला जा रहा है। इस टेस्ट मैच के शुरू होने से एक दिन पहले 25 दिसंबर को इंग्लैंड क्रिकेट टीम के पूर्व खिलाड़ी रे इलिंग्वर्थ का कैंसर से लंबी लड़ाई के बाद निधन हो गया। अपनी कप्तानी में इंग्लैंड को एशेज जिताने वाले रे इलिंग्वर्थ ने 89 साल की उम्र में अंतिम सांस ली।

जिसके बाद 26 दिसंबर को इंग्लैंड की टीम ने मेलबर्न के मैदान पर उतरने के साथ उन्हें सम्मान देने के लिए बांह में काली पट्टी पहनकर खेलने का फैसला किया। इंग्लैंड के लिए रे इलिंग्वर्थ ने 1958 से लेकर 1973 के बीच में 61 टेस्ट मैच खेले। इंग्लैंड की टीम तीसरे टेस्ट मैच के दौरान टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया।

हालांकि टीम का खराब प्रदर्शन इस टेस्ट मैच में भी जारी देखने को मिला जिसमें उनकी पहली पारी सिर्फ 185 रनों के स्कोर पर सिमट गई। टीम की तकफ से सिर्फ कप्तान जो रूट के अर्धशतक को छोड़कर अन्य कोई भी बल्लेबाज कुछ अधिक खास नहीं कर सका।

हम इस समय रे इलिंग्वर्थ के परिवार के साथ हैं – यॉर्कशायर

साल 1951 में रे इलिंग्वर्थ ने यॉर्कशायर की तरफ से प्रोफेशनल क्रिकेट में डेब्यू किया था। उस समय उनकी उम्र मात्र 19 साल थी और उसके बाद लगभग 32 साल तक इस क्लब से जुड़े रहे। जिसके बाद वह साल 1969 से लेकर 1978 तक लगभग एक दशक तक लीस्टरशायर क्लब के साथ रहे। फिर इसके बाद वह 1983 में यॉर्कशायर वापस लौट आए।

यॉर्कशायर काउंटी क्रिकेट क्लब की तरफ से रे इलिंग्वर्थ के निधन पर ट्वीट करते हुए दुख जताया और लिखा कि, हमें यह खबर मिलने के बाद काफी दुख है, हम इस दुख की घड़ी में रे इलिंग्वर्थ के परिवार के साथ हैं। वह हमारे दिलों में हमेशा जिंदा रहेंगे।

इंग्लैंड की टीम ने साल 1970-71 में खेली गई 7 मैचों की एशेज टेस्ट सीरीज को 2-0 से अपने नाम किया था, जिसमें टीम की कप्तानी रे इलिंग्वर्थ कर रहे थे। वहीं उन्होंने अपने करियर में 3 वनडे मैच भी खेले हैं। प्रथम श्रेणी क्रिकेट को लेकर बात की जाए तो उसमें रे इलिंग्वर्थ ने 787 टेस्ट मैच खेले जिसमें 24000 रनों के साथ 22 शतक और 105 अर्धशतकीय पारियां शामिल हैं।