नस्लवाद के खिलाफ ECB ने लिया बड़ा एक्शन, यॉर्कशायर से छीनी इंटरनेशनल मैचों की मेजबानी - क्रिकट्रैकर हिंदी

नस्लवाद के खिलाफ ECB ने लिया बड़ा एक्शन, यॉर्कशायर से छीनी इंटरनेशनल मैचों की मेजबानी

यॉर्कशायर के बल्लेबाज गैरी बैलेंस ने बुधवार को स्वीकार किया था कि उन्होंने अपने पुराने साथी अजीम रफीक पर नस्लभेदी टिप्पणी की थी।

(Photo by Stu Forster/Getty Images)
Headingly Cricket Ground (Photo by Stu Forster/Getty Images)

इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ECB) ने यॉर्कशायर कॉउंटी क्रिकेट क्लब को किसी भी अंतरराष्ट्रीय या बड़े मैचों की मेजबानी करने से प्रतिबंधित कर दिया है। इंग्लैंड बोर्ड ने 4 अक्टूबर को बयान जारी कर कहा कि क्लब ने अपने पूर्व खिलाड़ी अजीम रफीक द्वारा लगाए गए नस्लवाद के आरोपों को सही तरीके से नहीं संभाला। बोर्ड ने अजीम रफीक के मामले पर चर्चा करने के लिए एक बैठक की थी जिसके बाद यह निर्णय लिया गया।

ECB ने अपने बयान में कहा कि, “यह साफ है कि यॉर्कशायर कॉउंटी क्रिकेट क्लब ने अजीम रफीक के मामले की सही तरीके से जांच नहीं की जो अस्वीकार्य और इसकी वजह से खेल की छवि को नुकसान पहुंच रहा है।” बता दें कि रफीक के दावों से जुड़ा मामला एक साल से अधिक समय से सुर्खियों में है और ECB स्पष्ट रूप से यॉर्कशायर के फैसले से खुश नहीं है।”

यॉर्कशायर काउंटी क्लब पर ECB की कठोर कार्रवाई

मिरर के रिपोर्ट के मुताबिक ECB ने आज यॉर्कशायर काउंटी क्रिकेट क्लब (YCCC) के संबंध में घटनाक्रम पर चर्चा की। बोर्ड के लिए यह स्पष्ट है कि अजीम रफीक द्वारा उठाए गए मुद्दों से निपटने के लिए यॉर्कशायर का फैसला पूरी तरह से अस्वीकार्य है और खेल की प्रतिष्ठा को गंभीर नुकसान पहुंचा रहा है। बोर्ड ने इस मामले को घृणित और क्रिकेट की भावना और इसके मूल्यों के खिलाफ बताया है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि, “क्रिकेट में नस्लवाद या किसी भी प्रकार के भेदभाव के लिए कोई जगह नहीं है और जहां यह पाया जाता है, वहां तुरंत कार्रवाई की जानी चाहिए। इस बीच यॉर्कशायर को अंतरराष्ट्रीय या प्रमुख मैचों की मेजबानी से निलंबित कर दिया गया है, जब तक कि यह स्पष्ट रूप से प्रदर्शित नहीं हो जाता है कि यह अंतरराष्ट्रीय मैचों का आयोजन करवाने के लिए अपेक्षित स्थल है तब तक यहां इन मैचों का आयोजन नहीं किया जाएगा।

यॉर्कशायर के बल्लेबाज गैरी बैलेंस जिन्होंने हाल ही में स्वीकार किया था कि उन्होंने अपने पुराने साथी अजीम रफीक पर नस्लभेदी टिपण्णी की थी, उन्हें भी इंग्लैंड की सिलेक्शन से अनिश्चितकाल के लिए बैन कर दिया गया है।