पूर्व भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी ने बताया आखिर क्यों IPL में कम खेलते हुए दिखते हैं बांग्लादेशी खिलाड़ी - क्रिकट्रैकर हिंदी

पूर्व भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी ने बताया आखिर क्यों IPL में कम खेलते हुए दिखते हैं बांग्लादेशी खिलाड़ी

बांग्लादेश के मात्र दो खिलाड़ी इस लीग में हिस्सा लेते हुए नजर आते हैं।

Bangladesh Cricket Team. (Photo by Md Manik/SOPA Images/LightRocket via Getty Images)
Bangladesh Cricket Team. (Photo by Md Manik/SOPA Images/LightRocket via Getty Images)

पूर्व भारतीय खिलाड़ी दीपदास गुप्ता ने बांग्लादेश क्रिकेट को लेकर बयान दिया है। उनका मानना है कि बांग्लादेश के खिलाड़ियों को अधिक से अधिक लोग क्रिकेट में हिस्सा लेना चाहिए जिससे आने वाले समय में आईपीएल ने उनके अधिक से अधिक खिलाड़ी हिस्सा ले सकें। अगर बांग्लादेशी खिलाडियों की बात की जाये तो उनकी टीम से अब तक 2-3 खिलाड़ी ही इस बड़े लीग का हिस्सा बनते हुए दिखे हैं।

इसको लेकर पूर्व भारतीय खिलाड़ी दीपदास गुप्ता के यूट्यूब चैनल पर जब एक फैन ने पूछा कि क्यों इतने कम बांग्लादेशी खिलाड़ी इस बड़े टूर्नामेंट का हिस्सा बन पाए हैं तो उन्होंने अपने वीडियो इस सवाल का सटीक जवाब दिया। दीपदास गुप्ता का मानना है कि आईपीएल फ्रेंचाइजी जो भी खिलाड़ी को चुनती है वो इंटरनेशनल क्रिकेट खेल रहा होता है साथ ही दुनिभर में जाकर हर एक लीग क्रिकेट में हिस्सा लेता है। बांग्लादेश टीम की बात करें तो सिर्फ शाकिब अल हसन और मुश्तफिजुर रहमान ही आईपीएल का हिस्सा बन पाए हैं।

बांग्लादेश क्रिकेट टीम को लेकर दीपदास गुप्ता की राय

वीडियो में दीपदास गुप्ता ने कहा कि “आईपीएल में खेलने वाले अधिकतर खिलाड़ी पहले इंटरनेशनल क्रिकेट खेल चुके होते हैं, उनमें से कई खिलाड़ी दुनियाभर में जाकर टी-20 लीग क्रिकेट खेलते हैं। आईपीएल की फ्रेंचाइजी खिलाड़ियों का सभी लीगों में प्रदर्शन को देखकर उनका चयन करती है।”

उन्होंने इसके बाद ये भी कहा कि “बांग्लादेश खिलाड़ियों को अधिक से अधिक लीग क्रिकेट खेलना चाहिए और अगर वहां उनका प्रदर्शन अच्छा रहेगा तो इससे आने वाले समय में अधिक से अधिक बांग्लादेशी खिलाड़ी आईपीएल में भी खेलते हुए दिखेंगे।”

बांग्लादेश से ज्यादा अफ़गानिस्तान के खिलाड़ी आईपीएल का हिस्सा हैं

अफगानिस्तान की टीम जिसे साल 2018 में टेस्ट टीम का दर्जा मिला था उनके टीम के कई महत्वपूर्ण खिलाड़ी आईपीएल में हिस्सा लेते हुए दिखाई देते हैं वहीं अगर बांग्लादेश टीम की बात की जाए तो साल 2000 से उनकी टीम को टेस्ट मैच खेलने का दर्जा मिला हुआ है लेकिन उसके बावजूद टीम ने कुछ अधिक प्रगति नहीं की है। आईपीएल में भी उनके दो खिलाड़ी खेलते हुए दिखाई देते हैं।