हमेशा खराब शॉट खेलकर अपना विकेट फेंकने वाले ऋषभ पंत को गौतम गंभीर की दो टूक - क्रिकट्रैकर हिंदी

हमेशा खराब शॉट खेलकर अपना विकेट फेंकने वाले ऋषभ पंत को गौतम गंभीर की दो टूक

कगिसो रबाडा ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ दूसरे टेस्ट के तीसरे दिन ऋषभ पंत को बिना खाता खोले पवेलियन भेज दिया।

Gautam Gambhir and Rishabh Pant. (Photo Source: Getty Images)
Gautam Gambhir and Rishabh Pant. (Photo Source: Getty Images)

दक्षिण अफ्रीका और भारत के बीच दूसरा टेस्ट काफी रोमांचक मोड़ पर पहुंच चूका है। लेकिन मैच के तीसरे दिन में भारत के विकेटकीपर ऋषभ पंत को गैर-जिम्मेदार तरीके से आउट होते देखा गया। जब मेहमान टीम एक मुश्किल स्थिति में खड़ी थे, कीपर-बल्लेबाज गेंद को मैदान के पार पंहुचाने के लिए बड़ा शॉट खेलने के प्रयास में आउट हो गए।

इस तरह के गलत शॉट खेलकर आउट होने के बाद कई प्रशंसकों और विशेषज्ञों ने उनकी आलोचना की, साथ ही साथ उनके शॉट चयन पर भी सवाल उठाया। पूर्व भारतीय क्रिकेटर गौतम गंभीर उनमें से एक थे और वो पंत से प्रभावित नहीं थे। उन्होंने इसके बाद पंत को जमकर लताड़ा और महसूस किया कि कीपर-बल्लेबाज को सिर्फ अपना विकेट फेंकने के बजाय स्थिति से लड़ना चाहिए था।

पंत के शॉट चयन पर जमकर भड़के गौतम गंभीर

स्टार स्पोर्ट्स के शो में गंभीर ने कहा कि, “सबसे आसान काम यह है कि किसी को स्लेजिंग करते रहना है और सबसे मुश्किल काम यह है कि जब आपके हाथ में बल्ला होता है तो आपको उसका सामना करना पड़ता है। मैं चाहूंगा कि ऋषभ उस स्थिति में बाहर निकलने के लिए एक बड़े शॉट के लिए जाने के बजाय शायद शायद उससे लड़े।”

गंभीर ने आगे कहा कि, “उनको देखकर काफी निराश हूं। इस तरह से आपको टेस्ट क्रिकेट नहीं खेलना चाहिए। टेस्ट क्रिकेट में डीन एल्गर से बहुत कुछ सीखने योग्य है और यही कारण है कि मैंने कहा है कि बहुत सारे युवा भारतीय बल्लेबाज डीन एल्गर से भी बहुत कुछ सीख सकते हैं क्योंकि जब आप विश्व स्तर के गेंदबाजों के खिलाफ खेलते हैं, तो वो आपको आसान रन कभी नहीं देंगे।”

तीसरी पारी में बाएं हाथ के बल्लेबाज के आउट होने के बाद, हनुमा विहारी और निचले-मध्य क्रम ने राहुल की अगुवाई वाली टीम को बोर्ड पर 266 रन लगाने में मदद की । मेजबान टीम को दूसरा टेस्ट जीतने और सीरीज बराबर करने के लिए 240 रन बनाने हैं। चौथे दिन का खेल ,समाप्त होने के बाद अफ़्रीकी टीम का स्कोर दो विकेट के नुकसान पर 118 रन और इस तरह जीत के लिए उन्हें 122 रन और चाहिए।