ग्लेन मैक्सवेल ने चुने टी-20 फॉर्मेट के उनके टॉप-5 खिलाड़ी, लिस्ट में एक नाम हैरान करने वाला - क्रिकट्रैकर हिंदी

ग्लेन मैक्सवेल ने चुने टी-20 फॉर्मेट के उनके टॉप-5 खिलाड़ी, लिस्ट में एक नाम हैरान करने वाला

ग्लेन मैक्सवेल के टॉप-5 में एक भी भारतीय का नाम मौजूद नहीं।

Glenn Maxwell. (Photo Source: Getty Images)
Glenn Maxwell. (Photo Source: Getty Images)

अक्टूबर में होने वाले टी-20 वर्ल्ड कप से पहले ऑस्ट्रेलिया के धाकड़ ऑलराउंडर ग्लेन मैक्सवेल ने क्रिकेट के सबसे छोटे फॉर्मेट में अपने टॉप-5 खिलाड़ियों को चुना है। आईसीसी ने उन्हें पांच खिलाड़ियों का नाम चुनने के लिए कहा था जिन्हें टी-20 वर्ल्ड XI में शामिल किया जा सके। मैक्सवेल ने पांच खिलाड़ियों में उनको चुना जो मैदान पर सभी आधारों को कवर करते हैं। 

ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज ने अपने पांच खिलाड़ियों में दो ऑलराउंडर, एक स्पिनर, एक विकेटकीपर-बल्लेबाज और एक तेज गेंदबाज को चुना है लेकिन हैरानी की बात ये है कि उनकी इस सूची में भारत का एक भी खिलाड़ी शामिल नहीं है। उनकी लिस्ट में अफगानिस्तान, ऑस्ट्रेलिया, वेस्टइंडीज और इंग्लैंड के खिलाड़ी शामिल हैं।

मैक्सवेल की लिस्ट में कौन-से खिलाड़ियों का नाम है?

मैक्सवेल के पहले खिलाड़ी अफगानिस्तान के स्टार स्पिनर राशिद खान हैं। राशिद अब तक 281 टी-20 मुकाबले खेल चुके हैं जिसमें उन्होंने 388 विकेट झटके हैं। दूसरे नंबर पर उन्होंने वेस्टइंडीज के विस्फोटक ऑलराउंडर आंद्रे रसल को रखा है। रसल टी-20 में 6405 रन बना चुके हैं, साथ ही 340 विकेट भी ले चुके हैं। वहीं, उनके लिस्ट में तीसरे नंबर पर इंग्लैंड के ऑलराउंडर बेन स्टोक्स का नाम शुमार है। 148 टी-20 मैच खेल चुके स्टोक्स ने इस फॉर्मेट में 2865 रन बनाए हैं और 86 विकेट लिए हैं।

लिस्ट में ऑस्ट्रेलिया के दो दिग्गज शामिल

मैक्सवेल ने अपनी लिस्ट में चौथे नंबर पर ऑस्ट्रेलिया के पूर्व विकेटकीपर-बल्लेबाज एडम गिलक्रिस्ट को रखा है। गिलक्रिस्ट ने 102 टी-20 मैचों में 2622 रन बनाए हैं। वहीं, पांचवें नंबर पर उन्होंने शॉन टेट का नाम जोड़कर सबको चौंका दिया। शॉन टेट सटीक यॉर्कर और तेज रफ्तार के लिए जाने जाते थे, उन्होंने 171 टी-20 मुकाबलों में 218 विकेट झटके हैं। टेट का नाम लेते हुए उन्होंने कहा कि “मैंने उनके खिलाफ बल्लेबाजी की है, मुझे पता है कि वो कितने तेज थे। करियर के आखिरी पड़ाव में भी वो काफी तेज गेंदबाजी करते थे।”