टिम पेन की अश्लील चैट को लेकर अब शेन वार्न ने उनका बचाव करते हुए कही यह बात - क्रिकट्रैकर हिंदी

टिम पेन की अश्लील चैट को लेकर अब शेन वार्न ने उनका बचाव करते हुए कही यह बात

शेन वार्न ने कहा कि उन्हें टिम पेन और उनके परिवार के लिए इस समय दुख हो रहा है, जिस दौर से उन्हें गुजरना पड़ रहा है।

Tim Paine. (Photo by PATRICK HAMILTON/AFP via Getty Images)
Tim Paine. (Photo by PATRICK HAMILTON/AFP via Getty Images)

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया इस समय एकबार फिर से एक खराब वजह से वर्ल्ड क्रिकेट में चर्चा का विषय बन गया है। जिसमें टीम के पूर्व टेस्ट कप्तान टिम पेन की अश्लील चैट का सामने आने के बाद उनके साथ बोर्ड को भी काफी आलोचना का सामना करना पड़ रहा है। टिम पेन के कप्तानी छोड़ने के ऐलान के साथ ही उनके इस प्रकरण की चर्चा आग की तरह सभी तरफ फैल गई।

टिम पेन ने प्रेस वार्ता के दौरान इस बात को कबूल किया कि उन्होंने अपनी सहकर्मी को इस तरह के अश्लील मैसेज भेजे थे। वहीं उन्होंने साथ ही यह भी कहा कि उन्हें ऐसा नहीं करना चाहिए था।

द हेराल्ड सन में टिम पेन का बयान जो छपा उसके अनुसार उन्होंने कहा कि, मैं इस बात से रोज जूझ रहा था कि मैने ये मैसेज क्यों भेजे। शायद यह मेरी बेवकूफी हो सकती है। मुझे इसके बारे में नहीं पता लेकिन शायद मुझे इस तरह की चीजें नहीं करनी चाहिए थी और मुझे इसका पूरे जीवन खेद रहेगा।

मैं टिम पेन को इस घटना के बाद उन्हें किसी तरह से आंकने की कोशिश नहीं करुंगा

अब ऑस्ट्रेलियाई टीम के पूर्व दिग्गज खिलाड़ी और लेग स्पिनर शेन वार्न ने इस पूरे प्रकरण पर अपनी राय को रखते हुए कहा कि वह टिम पेन को इस घटना के बाद किसी तरह से जज करने की कोशिश नहीं करेंगे। क्योंकि क्रिकेट खिलाड़ी भी एक इंसान होते हैं और उनके अंदर भी भावनाएं होती हैं।

शेन वार्न ने हेराल्ड सन में लिखे अपने कॉलम में कहा कि, मैं टिम पेन को इस घटना के बाद किसी तरह से जज करने की कोशिश नहीं करुंगा। क्योंकि वह लगातार लोगों की नजरों में रहते हैं तो इसका यह मतलब नहीं कि उनसे गलती नहीं हो सकती है। खिलाड़ी भी एक इंसान होते हैं और उनके अंदर भी भावनाएं होती है।

वहीं वार्न ने टिम पेन को लेकर अपना सहानभूति देते हुए आगे कहा कि, मुझे इसका दुख है जो भी कुछ हुआ जिसके चलते पेन को अपनी कप्तानी छोड़नी पड़ी। इस समय उनका परिवार जिस कठिन दौर से गुजर रहा मैं समझ सकता हूं। हमें एक समय के लिए सोचना चाहिए कि यह घटना 4 साल पहले हुई थी, जिसमें क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने अपनी जांच में पेन को दोषी नहीं पाया था और उनका परिवार उस समय और अभी भी उनके साथ खड़ा हुआ है।