जब मोहम्मद रिजवान की आलोचना कर सोशल मीडिया पर खुद शिकार हुए वसीम अकरम - क्रिकट्रैकर हिंदी

जब मोहम्मद रिजवान की आलोचना कर सोशल मीडिया पर खुद शिकार हुए वसीम अकरम

सकलैन मुश्ताक ने मोहम्मद रिजवान की अप्रोच का बचाव किया।

Mohammad Rizwan and Wasim Akram (Image Source: Getty Images)
Mohammad Rizwan and Wasim Akram (Image Source: Getty Images)

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान वसीम अकरम ने 11 सितंबर को श्रीलंका के खिलाफ एशिया कप 2022 के फाइनल में पाकिस्तान की 23 रनों की हार के बाद मोहम्मद रिजवान की बल्लेबाजी अप्रोच की आलोचना करते हुए खुलासा किया कि उन्हें सलामी बल्लेबाज की धीमी बल्लेबाजी की आलोचना करने का भुगतान करना पड़ा था।

मोहम्मद रिजवान ने श्रीलंका के खिलाफ एशिया कप 2022 के फाइनल में 49 गेंदों में 55 रनों की पारी खेली और सलामी बल्लेबाजी की इस धीमी पारी के चलते पाकिस्तान क्रिकेट टीम जीत के लिए 171 रनों का पीछा करते हुए 20 ओवरों में केवल 147 रन बना पाई, नतीजन उनके हाथों से खिताब जीतने का सुनहरा मौका फिसल गया।

जब वसीम अकरम मोहम्मद रिजवान की आलोचना कर खुद सोशल मीडिया पर हुए शिकार

इस बीच, एशिया कप 2022 के पाकिस्तान बनाम श्रीलंका फाइनल के दौरान, वसीम अकरम ने खुलासा किया कि जब उन्होंने मोहम्मद रिजवान की उनकी स्ट्राइक रेट को लेकर आलोचना की थी, तो बदले में उन्हें खुद सोशल मीडिया पर आलोचना का शिकार होना पड़ा था।

वसीम अकरम ने स्टार स्पोर्ट्स पर कमेंट्री के दौरान कहा: “अगर आपको याद हो तो मोहम्मद रिजवान ने हांगकांग के खिलाफ भी ऐसा ही खेला था। उस दौरान मैंने धीमी बल्लेबाजी के लिए उनकी आलोचना की थी, और लोगों ने सोशल मीडिया पर मुझ पर हमला बोल दिया था। पाकिस्तान के लोगों ने कहा कि मैं रिजवान को सपोर्ट नहीं करता। लेकिन आज भी अगर आप मेरी राय जानना चाहते हैं, तो मैं आपको सही और सीधी राय दूंगा। मैं वह आदमी नहीं हूं, जो चीजें देखने के बाद भी उसके बारे में झूठ बोलूंगा। मेरे लिए जो काला है वो काला है, और जो सफेद है वो सफेद है। मैं हमेशा सच ही कहूंगा।”

आपको बता दें, वसीम अकरम से लेकर संजय मांजरेकर और गौतम गंभीर सभी ने मोहम्मद रिजवान की धीमी बल्लेबाजी को लेकर निराशा जाहिर की, लेकिन पाकिस्तान के मुख्य कोच सकलैन मुश्ताक ने श्रीलंका के खिलाफ एशिया कप 2022 के फाइनल में सलामी बल्लेबाज की अप्रोच का बचाव किया। उन्होंने कहा बाहर से टिप्पणी करना बहुत आसान है, लेकिन टीम में क्या चल रहा है, चीजें कैसी चल रही है, ये केवल हम ही जानते हैं, इसलिए वे इन बातों पर ध्यान नहीं देते हैं।