ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों को कायर करार देने के बाद जस्टिन लैंगर ने मारी पलटी और किया बड़ा खुलासा - क्रिकट्रैकर हिंदी

ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों को कायर करार देने के बाद जस्टिन लैंगर ने मारी पलटी और किया बड़ा खुलासा

जस्टिन लैंगर ने इस साल फरवरी में ऑस्ट्रेलिया के मुख्य कोच के पद से इस्तीफा दिया था।

Australian Team and Justin Langer (Image Source: Getty Images)
Australian Team and Justin Langer (Image Source: Getty Images)

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व मुख्य कोच जस्टिन लैंगर ने कप्तान पैट कमिंस सहित ऑस्ट्रेलिया के अन्य क्रिकेटरों के साथ अपने कथित अनबन की खबरों पर नाराजगी जाहिर की है। उन्होंने कमिंस और अन्य ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटरों के साथ अनबन की खबरों का खंडन करते हुए खुलासा किया कि वह अभी भी उन सभी के संपर्क में हैं।

पूर्व कोच ने आगे कहा वह अभी भी ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों के साथ घनिष्ठ संबंध साझा करते हैं, और किसी के साथ भी उनके रिश्ते खराब नहीं है। आपको बता दें, 52-वर्षीय ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज ने टीम के प्रमुख खिलाड़ियों का सार्वजनिक रूप से समर्थन नहीं मिलने और क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के उनके अनुबंध में केवल 6 महीने का विस्तार देने के फैसले से नाराज होकर इस साल फरवरी में मुख्य कोच के पद से इस्तीफा दे दिया था।

जस्टिन लैंगर ने अपनी ‘कायर’ टिप्पणी का किया बचाव

इस बीच, लैंगर ने इस हफ्ते की शुरुआत में कुछ ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों, जिसमे पैट कमिंस भी शामिल थे, को कायर करार देकर सुर्खियां बटोरी थीं। पूर्व ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर ने कहा खिलाड़ियों ने सीधे उनसे बात करने के बजाय प्रेस में उनकी कोचिंग शैली पर असंतोष व्यक्त कर उनके साथ विश्वासघात किया। लेकिन अब लैंगर ने इस मुद्दे पर अपना पक्ष रखते हुए कहा कि मीडिया में उसके बयान को गलत तरीके से पेश किया गया है, और साथ ही बताया कि वह सभी खिलाड़ियों के साथ संपर्क में हैं।

जस्टिन लैंगर ने चैनल 7/ 7न्यूज पर्थ से बात करते हुए कहा: “यह अफवाह पूरी तरह से बकवास है। पैट कमिंस के लिए मेरे मन में बहुत सम्मान है; वह एक शानदार खिलाड़ी और एक उत्कृष्ट इंसान हैं, इसलिए हमारे बीच खटास की खबरे झूठी और बकवास है। यदि आप पॉडकास्ट सुनते हैं, तो मैं आपको बता दूं, मैं सच में केवल फीडबैक देने के लिए पैट, फिंची और टिम पेन की प्रशंसा कर रहा था। आपको एक दिलचस्प बताऊं, मैंने सोमवार को पैटी से बात की थी, और हमारी लंबी बातचीत हुई थी कि टीम कैसी चल रही है, वह कैसे जा रहा है, और उसका परिवार कैसा है, ये सब बातें हुई।

यहां तक कि दो दिन पहले, मुझे सभी खिलाड़ियों ने जन्मदिन पर विश भी किया। जब से मैंने टीम को छोड़ा है, तब से मैं इन सभी खिलाड़ियों के संपर्क में हूं। मुझे ऑस्ट्रेलिया के कोच के रूप में अपने चार साल बहुत अच्छे लगे; यह शानदार था; हालांकि जैसा मैं चाहता था, मेरा कार्यकाल वैसे समाप्त नहीं हुआ, लेकिन यही जीवन है, यही क्रिकेट है, और यह एक कठिन कार्य है।”