यदि अश्विन को हेडिंग्ले टेस्ट मैच में खेलने का मौका नहीं मिलता है, तो मुझे काफी हैरानी होगी - क्रिकट्रैकर हिंदी

यदि अश्विन को हेडिंग्ले टेस्ट मैच में खेलने का मौका नहीं मिलता है, तो मुझे काफी हैरानी होगी

भारतीय टीम इस सीरीज में 1-0 की बढ़त बनाए हुए है।

Ravichandran Ashwin (Photo Source: Twitter)
Ravichandran Ashwin (Photo Source: Twitter)

भारतीय टीम इस समय इंग्लैंड के दौरे पर खेले गए शुरुआती दोनों टेस्ट मैच में अपने प्रदर्शन के जरिए सीरीज में 1-0 की बढ़त बनाने में कामयाब रही। अब टीम की नजर 25 अगस्त से हेडिंग्ल में शुरू होने वाले तीसरे टेस्ट मैच में है, जिसमें जीत हासिल करके वह 2-0 की बढ़त को बनाने की कोशिश करेगी ताकि सीरीज हार के खतरे को पहले पूरी तरह से खत्म किया जा सके।

पहले दोनों टेस्ट मैचों में भारतीय टीम की तरफ से जिस एक विभाग ने सबसे ज्यादा सुर्खियां बटोरी वह तेज गेंदबाजी थी। लॉर्ड्स टेस्ट मैच में सिर्फ 60 ओवरों के अंदर भारतीय टीम के तेज गेंदबाजों ने इंग्लैंड की दूसरी पारी को जिस तरह से समेटा उसकी कल्पना किसी ने नहीं की थी। हालांकि अभी तक भारतीय टीम अपने प्रमुख स्पिन गेंदबाज रविचंद्रन अश्विन के बिना ही दोनों टेस्ट मैच में खेलने उतरी है।

टीम में एकमात्र स्पिन गेंदबाज के तौर पर रविंद्र जडेजा को शामिल किया गया था, जो बल्लेबाजी में भी महत्वपूर्ण योगदान में देने में कामयाब हो सके। हालांकि कई विशेषज्ञों का मानना था कि अश्विन को दोनों ही टेस्ट मैचों में मौका दिया जाना चाहिए था। इसी में इंग्लैंड टीम के पूर्व कप्तान माइकल वॉन भी शामिल हैं, जिन्होंने तीसरे टेस्ट मैच से पहले एकबार फिर कहा कि यदि अश्विन को इस टेस्ट मैच में मौका नहीं मिलता है, तो उन्हें काफी हैरानी होगी।

मुझे लगता है, भारत 3 तेज गेंदबाज और 2 स्पिन गेंदबाजों के साथ जाएगा

माइकल वॉन ने क्रिकबज्ज को दिए अपने बयान में कहा कि हेडिंग्ले में खेलने जाने वाले तीसरे टेस्ट मैच की पिच बल्लेबाजी के लिए काफी शानदार लग रही है। मुझे लगता है कि भारतीय टीम 3 तेज गेंदबाज और 2 स्पिन गेंदबाजों के साथ उतरने का फैसला ले सकती है। इसमें इशांत शर्मा की जगह अश्विन को टीम में शामिल किया जा सकता है।

वॉन ने लीड्स में स्पिन के लिए मददगार पिच को लेकर भी कहा कि, यहां पर खेल के तीसरे, चौथे और 5वें दिन स्पिन गेंदबाज प्रभावी दिख सकते हैं, जिसके चलते 2 स्पिन गेंदबाजों के साथ उतरने का फैसला काफी सही साबित हो सकता है।