मैथ्यू हेडन ने बताया कि आखिर क्यों राशिद खान नहीं दिखा सके टेस्ट मैच में कोई भी प्रभाव - क्रिकट्रैकर हिंदी
हिंदी

मैथ्यू हेडन ने बताया कि आखिर क्यों राशिद खान नहीं दिखा सके टेस्ट मैच में कोई भी प्रभाव

Former Australia cricketer Matthew Hayden. (Photo Source: TNPL)
Former Australia cricketer Matthew Hayden. (Photo Source: TNPL)

भारतीय टीम ने अफगानिस्तान के साथ ऐतिहासिक टेस्ट मैच को सिर्फ 2 दिन के भीतर ही खत्म कर दिया. बेंगलुरु के एम. चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेले गएँ मैच से पहले काफी सारी बातें हुयीं थी जिसमें सबसे अधिक 19 साल के लेग स्पिनर राशिद खान को लेकर चर्चा हुयीं थी क्योंकि उन्हें अफ़गान टीम का ट्रम्प कार्ड माना जा रहा था लेकिन वह इस मैच में काफी महंगे साबित हुए. राशिद को टेस्ट क्रिकेट में अपना पहला ओवर भारतीय पारी के 15 वें ओवर में मिला जिसमें शिखर धवन ने उनके पहले ही ओवर में तीन चौके लगाकर शानदार टेस्ट क्रिकेट में उनका स्वागत किया था, जिसके बाद पूरी पारी में वह अपनी ले ही नहीं खोज सके.

राशिद खान जैसे ही अपना पहला ओवर करने के लिए आयें तो उनके खिलाफ सबसे पहले स्वीप के जरिये प्रहार हुआ उसके बाद धवन ने आगे बढ़कर हमला किया. धवन ने पूरी पारी के दौरान राशिद के खिलाफ सिर्फ 29 गेंदों में 43 रन बना डाले. राशिद की कोई भी गेंद अधिक नहीं घूम पा रही थी. जिस वजह से उन्हें और अधिक संघर्ष करना पड़ रहा था. इसके बाद पहले दिन के आखिरी में सेशन में राशिद ने जरुर कुछ वापसी करते हुए भारतीय कप्तान अजिंक्य रहाणे का विकेट हासिल किया.

वह काफी आक्रामक है

इसके बाद राशिद को एक और विकेट मिल सकता था यदि मोहम्मद नबी स्लिप में चेतेश्वर पुजारा का कैच नहीं छोड़ते. दूसरे उन्हें इशांत शर्मा के रूप में अपना दूसरा विकेट मिला और पहले टेस्ट मैच में राशिद खान ने 34.5 ओवर करने के बाद 154 रन दिए जिसमें उन्हें सिर्फ 2 विकेट ही हासिल हो सके. ऑस्ट्रेलिया टीम के पूर्व ओपनिंग बल्लेबाज़ ने राशिद खान का पहले टेस्ट मैच में कोई भी असर नहीं दिखा पाने के पीछे की वजह का खुलासा किया.

मैथ्यू हेडन ने इंटरनेशनल बिजेनस टाइम्स से बातचीत करते हुए कहा कि “मुझे लगता है आने वाले समय में राशिद टेस्ट क्रिकेट में अच्छी गेंदबाजी करेंगे. सबसे पहले उन्हें यह बात समझनी होगी कि पहले दिन के खेल में वह इतनी आक्रामक फील्ड के साथ गेंदबाजी नहीं कर सकते है उन्हें थोड़ा  सही फील्ड का चयन करना होगा साथ ही वह खुद भी बेहद आक्रामक थे.”