मुख्य चयनकर्ता चेतन शर्मा ने बताया क्यों मिली रविचंद्रन अश्विन को टी-20 वर्ल्ड कप टीम में जगह - क्रिकट्रैकर हिंदी

मुख्य चयनकर्ता चेतन शर्मा ने बताया क्यों मिली रविचंद्रन अश्विन को टी-20 वर्ल्ड कप टीम में जगह

अश्विन ने अपना आखिरी टी-20 अंतरराष्ट्रीय मुकाबला 2017 में वेस्टइंडीज के खिलाफ खेला था।

Ravichandran Ashwin
Ravichandran Ashwin. (Photo Source: Getty Images)

ICC टी-20 वर्ल्ड कप 2021 के लिए 15 सदस्यीय भारतीय टीम की घोषणा हो चुकी है। इस टीम में लगभग सभी नाम पहले से निश्चित थे लेकिन एक खिलाड़ी ऐसा है जिसके चयन ने सभी को हैरान कर दिया है। वह खिलाड़ी ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन हैं जिन्हें 4 साल के बाद भारत की लिमिटेड ओवर्स टीम में शामिल किया गया है। अश्विन ने अपना आखिरी सीमित ओवरों का मुकाबला 2017 में वेस्टइंडीज के खिलाफ टी-20 फॉर्मेट का खेला था। 

2017 के बाद से स्पिनर के तौर पर कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल, राहुल चाहर, वाशिंगटन सुंदर, रवींद्र जडेजा आदि भारतीय टीम का हिस्सा रहे हैं। चहल और कुलदीप की जोड़ी ने तो कई मैचों में भारत को अपनी शानदार गेंदबाजी के जरिए जीत भी दिलाई है। वहीं, सुंदर भी पावरप्ले में किफायती गेंदबाजी के लिए जाने जाते हैं तथा बल्ले से भी वो योगदान दे सकते हैं। लेकिन टी-20 वर्ल्ड कप के लिए कुलदीप और चहल को नहीं चुना गया है जबकि वाशिंगटन सुंदर चोटिल होकर बाहर हैं।   

अश्विन की वापसी पर मुख्य चयनकर्ता चेतन शर्मा का बयान

भारत के मुख्य चयनकर्ता चेतन शर्मा ने अश्विन की 4 साल बाद वापसी को लेकर कहा कि, “रविचंद्रन अश्विन इस बीच लगातार IPL में खेलते नजर आए और उन्होंने अच्छा प्रदर्शन भी किया। जब आप वर्ल्ड कप खेलने जाते हो तो आपको एक ऑफ स्पिनर की जरूरत होती है। सबको पता है कि यूएई में विकेट और धीमी हो जाएगी क्योंकि वहां IPL 2021 का दूसरा फेज भी खेला जाना है। स्पिनरों का टूर्नामेंट में बड़ा रोल होगा और चूंकि वाशिंगटन सुंदर चोटिल हैं, ऐसे में अश्विन टीम के लिए अहम साबित होंगे। उन्होंने IPL में अच्छा प्रदर्शन किया है और इस वजह से उन्हें टीम में जगह मिली है।”

आईपीएल में रविचंद्रन अश्विन का प्रदर्शन

*अश्विन ने अब तक आईपीएल में कुल 46 मैच खेले हैं।
*इन मैचों में अश्विन के नाम 52 विकेट दर्ज हैं।
*आईपीएल में उनकी इकोनॉमी 6.98 की है और औसत 22.94 का रहा है।