साउथ अफ्रीका के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में धीमी ओवर गति के चलते भारतीय टीम पर WTC की अंकतालिका में लगा 1 अंक का जुर्माना - क्रिकट्रैकर हिंदी

साउथ अफ्रीका के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में धीमी ओवर गति के चलते भारतीय टीम पर WTC की अंकतालिका में लगा 1 अंक का जुर्माना

भारतीय टेस्ट कप्तान ने इस गलती को स्वीकार करते हुए जुर्माने को कबूल कर लिया है।

Virat Kohli. (Photo by CHRISTIAAN KOTZE/AFP via Getty Images)
Virat Kohli. (Photo by CHRISTIAAN KOTZE/AFP via Getty Images)

साउथ अफ्रीका दौरे का आगाज भारतीय टीम ने इस बार काफी शानदार तरीके से करते हुए सीरीज के पहले टेस्ट मैच 113 रनों की जीत हासिल करने के साथ वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के दूसरे संस्करण में अपनी स्थिति को भी मजबूत करने का काम किया। लेकिन इस मैच के बाद भारतीय टीम को उस समय बड़ा नुकसान उठाना पड़ा जब धीमी ओवर गति के कारण टीम को 1 अंक का नुकसान उठाना पड़ा।

धीमी ओवर गति के चलते भारतीय टीम के सभी खिलाड़ियों पर मैच फीस पर 20 फीसद जुर्माना भी लगा है। आईसीसी एलीट पैनल मैच रेफरी एंड्रयू पाइक्रॉफ्ट ने यह जुर्माना भारतीय टीम पर लगाने का ऐलान किया। जिसमें भारतीय टीम ने तय समय के अनुसार 1 ओवर कम डाला था, जब दिन का खेल समाप्त किए जाने का फैसला लिया गया।

ICC कोड ऑफ कंडक्ट फॉर प्लेयर्स और प्लेयर सपोर्ट पर्सनल के नियम संख्या 2.22 के अनुसार जो मैच में ओवर गति से जुड़ा हुआ नियम है, उसके अनुसार यह जुर्माना लगाया गया है। इसी में खिलाड़ियों पर 20 फीसद मैच फीस का जुर्माना लगाने का भी प्रावधान है, यदि वह तय समय पर अपने ओवर नहीं फेक पाते हैं।

आर्टिकल 2.22 के अनुसार, यदि फील्डिंग करने वाली कोई टीम जो अंतरराष्ट्रीय मैच में खेल रही है उसे तय समय में अपने ओवर का कोटा पूरा करना होता है। यदि ऐसा करने में टीम कामयाब नहीं हो पाती है, तो उसे पूरी टीम को जुर्माने का सामना करना पड़ता है।

कप्तान कोहली ने कबूल की अपनी गलती

भारतीय टेस्ट टीम के कप्तान विराट कोहली ने इस गलती को स्वीकार करते हुए जुर्माने के भी कबूल कर लिया है, जिसके बाद अब इस मामले में आगे किसी तरह की सुनवाई नहीं होगी। बता दें कि टीम इंडिया ने पहली बार सेंचुरियन के मैदान में टेस्ट मैच में जीत हासिल करने के साथ यह कारनामा करने वाली एशिया की पहली टीम बन गई है।

वहीं अब टीम की नजर सीरीज के अगले टेस्ट मैच जो 3 जनवरी से जोहान्सबर्ग में मैदान में खेला जाएगा, उसमें जीत हासिल करने के साथ सीरीज में अजेय बढ़त लेने पर होगी। जिसको लेकर यह कहा जा सकता है कि भारतीय टीम यह कारनामा करने में सफल भी हो सकती है।