एक रोमांचक हाई-स्कोरिंग मैच में भारत ने आयरलैंड को 4 रन से हराया - क्रिकट्रैकर हिंदी

एक रोमांचक हाई-स्कोरिंग मैच में भारत ने आयरलैंड को 4 रन से हराया

पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत की तरफ से दीपक हुड्डा ने लगाया था शानदार शतक।

Team India (Photo Source: Twitter)
Team India (Photo Source: Twitter)

आयरलैंड और भारत के बीच टी-20 सीरीज का दूसरा और अंतिम मैच डबलिन के मलहाइड मैदान पर खेला गया। यहां भारतीय कप्तान हार्दिक पांड्या ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाजी करना फैसला किया। पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत ने दीपक हुड्डा की शतकीय और संजू सैमसन की अर्धशतकीय पारी के बदौलत 20 ओवर में 225 रन बनाए। 226 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी आयरलैंड की टीम की 20 ओवर में 221 रन ही बना सकी। इसी के साथ टीम इंडिया ने इस सीरीज को 2-0 से अपने नाम किया।

संजू सैमसन और दीपक हुड्डा की तूफानी पारी

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम की शुरुआत कुछ खास नहीं रही और पिछले मैच में टीम को अच्छी शुरुआत देने वाले इशान किशन इस मैच में सिर्फ तीन रन बनाकर पवेलियन लौट गए। वहीं उनके आउट होने के बाद तीन नंबर पर दीपक हुड्डा बल्लेबाजी करने के लिए आए, जिन्होंने पिछले मैच में इशान किशन के साथ ओपन किया था।

दीपक हुड्डा ने आते ही आक्रामक रुख अपनाया और बड़े-बड़े शॉट लगाने शुरू किए, वहीं दूसरे छोर पर खड़े संजू सैमसन ने भी उनका भरपूर साथ दिया। हुड्डा ने 27 गेंदों में अपना अर्धशतक पूरा किया और देखते ही देखते 55 गेंदों में उन्होंने शतक भी जड़ दिया। दीपक हुड्डा और सैमसन के बीच दूसरे विकेट के लिए 176 रनों को साझेदारी हुई। संजू सैमसन जहां 77 रन बनाकर आउट हुए वहीं हुड्डा 104 रनों की पारी खेलकर पवेलियन लौटे।

हालांकि हुड्डा और सैमसन को छोड़कर टीम इंडिया का और कोई भी बल्लेबाज कुछ खास कमाल नहीं कर पाया। सूर्य कुमार यादव 15 तो हार्दिक पांड्या 13 रन बनाकर पवेलियन लौटे। वहीं आयरलैंड की तरफ से मार्क अडायर ने सबसे अधिक तीन विकेट झटके।

आयरलैंड के बल्लेबाजों ने की शानदार बल्लेबाजी

लक्ष्य का पीछा करने उतरी आयरलैंड ने भी शानदार शुरुआत की। टीम के सलामी बल्लेबाज एंड्रयू बालबर्नी और पॉल स्टर्लिंग ने धमाकेदार आगाज किया और पहले छह ओवर में कुल 72 रन बनाए। टीम को पहला झटका स्टर्लिंग के रूप में लगा, जो 18 गेंदों में 40 रन बनाकर आउट हुए। हालांकि उनके आउट होने के बावजूद बलबर्न ने आक्रामक अंदाज में पारी को आगे बढ़ाया।

बलबरनी ने इस मैच में अपना अर्धशतक पूरा और जिस तरह से वो बल्लेबाजी कर रहे थे उसे देखकर ऐसा लग रहा था कि वो अकेले दम पर आयरलैंड को इस मैच में जीत दिला देंगे। लेकिन 60 के व्यक्तिगत स्कोर पर वो भी पवेलियन लौट गए। कप्तान के आउट होने के बाद हैरी टैक्टर जिन्होंने पिछले मुकाबले में शानदार बल्लेबाजी की थी, वो बल्लेबाजी करने के लिए क्रीज पर आए।

उन्होंने और जोर्ज डॉकरेल ने मिलकर तेज गति से रन बनाए। टेक्टर इस मैच में 28 गेंदों में 39 रन बनाकर आउट हुए। वहीं डॉकरेल अंत तक बल्लेबाजी करते रहे। डॉकरेल (34 रन) और मार्क अडायर (23 रन) ने मिलकर इस मैच में लगभग आयरलैंड को जीत की दहलीज तक पंहुचा दिया था लेकिन भारतीय टीम अंत में जैसे-तैसे 4 रनों से यह मुकाबला जीतने में कामयाब रही।

मैच के दौरान सोशल मीडिया पर फैंस ने दिए कुछ ऐसे रिएक्शन