in , , , , ,

मुंबई इंडियंस के इन 5 खिलाड़ियों ने डुबोया मुंबई इंडियंस को

मुंबई ने 1.5 करोड़ रुपये की भारी राशि खर्च करके प्रदीप सांगवान को टीम में मौका दिया

मुंबई इंडियंस दिल्ली डेयरडेविल्स से लीग मैच हार गई. इंडियन प्रीमियर लीग से बाहर हो जाने के बाद एक बार फिर से अपने खिताब की रक्षा करने में असफल रहा. हालांकि उन्हें केवल प्लेऑफ में जाने के लिए जीत की जरूरत थी. लेकिन मुंबई इंडियंस की किस्मत ने साथ नही दिया. उनके फैंस को नही लगा था कि मुंबई के हाथ से मैच बाहर चली जायेगी. उनके कुछ विस्फोकट बल्लेबाजो ने प्रयास किया लेकिन जब तक टीम वर्क नही होगा आगे बढ़ना सबके के लिए मुश्किल जैसा है.

इसके अलावा कप्तान रोहित शर्मा भी आगे नहीं बढ़ सके और आईपीएल के इतिहास में यह पहली बार था कि वह 300 से अधिक रन बनाने में नाकाम रहे. लेकिन सूर्यकुमार यादव, इविन लुइस और ईशान किशन ने अच्छी पारी खेली. लेकिन हम आज आपको उन पांच खिलाड़ियों के बारे में बताने जा रहे है जिनकी वजह से मुंबई इंडियंस को आखिरी मुकाम से पीछे लौटना पड़ा.

1. जेपी डुमनी:

JP Duminy. (Photo Source: Twitter)
JP Duminy. (Photo Source: Twitter)

दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाज जेपी डुमनी को इस सीजन में मुंबई इंडियंस ने काफी उम्मीद के साथ अपनी टीम में शामिल किया था. लेकिन ये फ्रेंचाईजी के उम्मीदों पर खरा नही उतरे. इस सीजन में उनकी शर्मनाक रन को देख कोई भी इन्हें दुबारा टीम में शामिल करने से पहले सोचेगा. क्योंकि डुमनी ने इस सीजन में कुल 6 मैच खेले हैं और इन्होंने कुल 36 रन ही बनाया है. जेपी डुमनी को केरोन पोलार्ड के जगह भी आजमाया गया लेकिन वहाँ भी ये फ्लॉप साबित हुए. इनका स्ट्राइक रेट भी 100 पार नही कर सका है.

2. मुस्तफिजुर रहमान:

Mustafizur Rahman
Mustafizur Rahman of Bangladesh bowls during the ICC Champions Trophy match. (Photo by Jordan Mansfield/Getty Images)

मुस्तफिजुर रहमान जैसे महान खिलाड़ी इस आईपीएल सीजन 11 में मुंबई इंडियंस के लिए बुरी तरह फ्लॉप साबित हुए है. मुस्तफिज़ुर ने कुछ हद तक मैच खेले है और 7 मैंच केवल 7 विकेट लिए. लेकिन तथ्य यह है कि जब टीम को अपने सर्वश्रेष्ठ प्रयास की आवश्यकता होती है तो वह कदम उठाने में असफल रहा है. वही दिल्ली के खिलाफ आखिरी मैच में ऋषभ पंत ने मुस्तफिजुर रहमान की जमकर धुनाई की है.

3. अकीला दांनजय:

पिछले साल भारत के खिलाफ अकिला दानंजय के खेल बदलने वाले जादू ने अपने करियर को फिर से जीवंत कर दिया था. इस साल मुंबई इंडियंस ने नीलामी में टूर्नामेंट के दौरान काफी उम्मीद से  बेहतर स्पिनर के रूप में चुना था. लेकिन मुंबई के लिए ये फैसला घातक साबित हुआ. क्योंकि ये पूरी तरह से फ्लॉप साबित हुए. क्योंकि श्रीलंकाई ने दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ एकमात्र गेम में 47 रनों की पारी खेली. इनके पास टीम में अपनी जगह तय करने का अच्छा मौका था लेकिन टीम की योजनाएं उनकी विफलता से खतरे में थीं. तब से अकिला को कभी भी ग्यारहवीं बार में शामिल नहीं किया गया था और टीम को केवल मयंक मार्कांडे के साथ ही उतरना पड़ा.

4. प्रदीप सांगवान:

मुंबई ने 1.5 करोड़ रुपये की भारी राशि खर्च करके प्रदीप सांगवान को टीम में मौका दिया. जो उनकी मूल कीमत के पांच गुना थीं. लेकिन उन्होंने भी दानंजया जैसे ही एक अकेला खेल खेला और ओवरों के अपने पूर्ण कोटा में भी गेंदबाजी नहीं की. बाएं हाथ के तेज गेंदबाज को केवल दो ओवर दिए गए जिसमें उन्होंने 19 रन दे दिया और विकेट भी नही ले सके. फिर उन्हें दुबारा मौका भी नही दिया गया. मुंबई के हाथ मे इन सब खिलाड़ियों के रूप में कुछ गलत हाथ लगा क्योंकि जितने पैसे इन्होंने खर्च किये थे उसमे बेहतर खिलाड़ी हाथ लग सकते थे. लेकिन ये लोग मोटी रकम लेकर बेंच गर्म करते नजर आए.

5. सौरभ तिवारी:

सौरभ तिवारी मुंबई फ्रेंचाइजी से अभी तक एक और गलत खरीद था. बाएं हाथ के खिलाड़ी ने टूर्नामेंट के पिछले संस्करणों में उनके लिए कई गेम जीते हैं लेकिन हाल ही में इसे खत्म कर दिया है. उनके लिए उनकी आखिरी पारी कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ 52 रनों की थी. जो पिछले साल भी एक खेल के लिए भी 11 खिलाड़ियों में जगह नहीं बना सके. बेंच पर ऐसे प्रतिभाशाली क्रिकेटर को देखना मुश्किल था और स्पष्ट रूप से मुंबई के हेवीवेट टॉप ऑर्डर में उनके पास कोई जगह नहीं है. जबकि सूर्यकुमार यादव ने सीजन के साथ क्रम के शीर्ष पर अपनी जगह तय कर दी है.

MS Dhoni

चेन्नई सुपर किंग्स के आईपीएल 11 सीजन के फाइनल में पहुँचने पर महेंद्र सिंह धौनी ने दिया ये बयान

Kolkata Knight Riders. (Photo by IANS)

कोलकाता नाईट राइडर्स आज इन 11 खिलाड़ियों के साथ उतरेगी राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ पहले एलिमिनेटर मैच में