IPL 2022: KKR बनाम RR मैच में विवाद के बाद डेनियल विटोरी ने वाइड गेंदों को लेकर कर दी बड़ी मांग - क्रिकट्रैकर हिंदी

IPL 2022: KKR बनाम RR मैच में विवाद के बाद डेनियल विटोरी ने वाइड गेंदों को लेकर कर दी बड़ी मांग

डेनियल विटोरी ने कहा खिलाड़ियों के पास अंपायरों की गलती सुधारने का मौका होना चाहिए।

Daniel Vettori of New Zealand
Daniel Vettori of New Zealand . (Photo by Hannah Peters/Getty Images)

2 मई को कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) के हाथों सात विकेट की शिकस्त झेलने के बाद, राजस्थान रॉयल्स (RR) ने जारी आईपीएल 2022 में लगातार अपना दूसरा मैच गंवा दिया है। हालांकि, केकेआर (KKR) के लिए यह सात विकेट की आसान जीत थी, लेकिन अंपायर एक बार फिर सवालों के घेरे में आ गए हैं।

राजस्थान रॉयल्स (RR) के कप्तान संजू सैमसन अंतिम ओवर में अंपायर नितिन पंडित द्वारा बल्लेबाज के क्रीज से बहुत आगे बढ़ने के बावजूद एक डिलीवरी वाइड देने के फैसले से खुश नहीं थे। प्रसिद्ध कृष्णा के गेंद को रिलीज करने से पहले ही नीतीश राणा ने अपनी क्रीज में कुछ ज्यादा ही फेरबदल कर दिया था, लेकिन अंपायर ने इसे वाइड बॉल करार दिया।

खिलाड़ियों के पास अंपायरों की गलती सुधारने का मौका होना चाहिए

संजू सैमसन स्पष्ट रूप से खुश नहीं थे और इस मामले पर चर्चा करने के लिए वह जल्दी से अंपायर के पास गए, और इसके साथ ही उन्होंने DRS भी लिया। अब इस मामले पर अपनी राय रखते हुए डेनियल विटोरी ने कहा वाइड और हाइट की नो-बॉल DRS के तहत आनी चाहिए और खिलाड़ियों को अंपायर के फैसले को बदलने का मौका दिया जाना चाहिए, क्योंकि करीबी मैचों में गलत फैसलों से मैच के परिणामों में बहुत बड़ा फर्क पड़ सकता है।

डेनियल विटोरी ने ESPNCricinfo के हवाले से कहा, “मुझे नहीं लगता कि वास्तव में इसके बाहर होने के बारे में सोचा गया था। बिल्कुल खिलाड़ियों को वाइड्स की समीक्षा करने की अनुमति दी जानी चाहिए। खिलाड़ियों को ऐसे महत्वपूर्ण मामलों में निर्णय लेने में सक्षम होना चाहिए।आज यह थोड़ा अलग है जहां ऐसा लग रहा था कि केकेआर जीतने जा रहा है।”

उन्होंने आगे कहा: “लेकिन हमने कई बार देखा है कि निर्णय गेंदबाजों के खिलाफ जाते हैं जो काफी करीब के मामले होते हैं और अंपायरों ने कई बार गलत फैसला लिया है। इसलिए खिलाड़ियों के पास उन गलतियों को सुधारने के लिए कुछ रास्ते होने चाहिए। इसलिए डीआरएस लाया गया: गलतियों को सुधारने के लिए। मैं ऐसा होते देखना चाहता हूं। और खिलाड़ी इसके बहुत अच्छे जज होते हैं। वे उन गलतियों को अधिकतर ठीक कर लेते हैं।”