लखनऊ के खिलाफ मैच में पृथ्वी शॉ ने की बदतमीजी, मैच रेफरी ने की बड़ी कार्रवाई - क्रिकट्रैकर हिंदी

लखनऊ के खिलाफ मैच में पृथ्वी शॉ ने की बदतमीजी, मैच रेफरी ने की बड़ी कार्रवाई

शॉ ने आईपीएल आचार संहिता के अनुच्छेद 2.2 के तहत लेवल 1 का अपराध और सजा को स्वीकार किया है।

Prithvi Shaw
Prithvi Shaw. (Photo Source: IPL/BCCI)

रविवार (1 मई) को एक रोमांचक मुकाबले में लखनऊ सुपर जायंट्स ने दिल्ली कैपिटल्स को मात दी। दिल्ली के सामने जीत के लिए 196 रनों का लक्ष्य था जिसे वो हासिल नहीं कर पाए। जहां हार से दिल्ली कैपिटल्स को एक बड़ा झटका लगा, वहीं उनके सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ पर भी आईपीएल आचार संहिता का पालन नहीं करने के लिए जुर्माना लगाया गया। उन्होंने भी अपना अपराध स्वीकार किया और मैच रेफरी प्रकाश भट्ट द्वारा लगाए गए दंड को मान लिया।

शॉ के ऊपर आईपीएल आचार संहिता का उल्लंघन करने के लिए उनकी मैच फीस का 25 फीसदी जुर्माना लगाया गया है। शॉ ने आईपीएल आचार संहिता के अनुच्छेद 2.2 के तहत लेवल 1 का अपराध और सजा को स्वीकार किया है। इस खबर की पुष्टि आईपीएल द्वारा एक बयान जारी करते हुए किया गया है।

आईपीएल की और से जारी बयान के मुताबिक पृथ्वी शॉ ने आईपीएल आचार संहिता के अनुच्छेद 2.2 के तहत लेवल 1 के अपराध को स्वीकार कर लिया है। आचार संहिता के लिए लेवल- 1 के उल्लंघन के लिए मैच रेफरी का निर्णय अंतिम और बाध्यकारी होता है। किसी विपक्षी खिलाड़ी या अंपायर के खिलाफ किसी भी प्रकार का इशारा करना आईपीएल आचार संहिता के लेवल- 1 का अपराध माना जाता है।

आईपीएल 2022 में पृथ्वी शॉ ने किया है अच्छा प्रदर्शन

इस बीच, पृथ्वी शॉ ने इस सीजन में दिल्ली कैपिटल्स के लिए पारी का आगाज करते हुए कुछ बेहतरीन पारियां खेली है। उन्होंने अब तक नौ पारियों में 28.77 के औसत और 159.87 के स्ट्राइक रेट से 259 रन बनाए हैं। शॉ ने इस सीजन में कई मौकों पर दिल्ली को तेज शुरुआत दिलाने में कामयाबी हासिल की है, लेकिन युवा खिलाड़ी अपने अच्छे शुरुआत को बड़ी पारी में तब्दील नहीं कर पाए हैं।

दिल्ली कैपिटल्स ने भी आईपीएल 2022 में निरंतर अच्छा प्रदर्शन करने के लिए संघर्ष किया है। उन्होंने अब तक नौ मैच खेले हैं और पांच मैचों में हारते हुए केवल चार मैच जीते हैं। टीम इस समय अंक तालिका में छठे स्थान पर है और अगर उन्हें प्लेऑफ में जगह बनाना है तो उन्हें आने वाले मैचों में अच्छा प्रदर्शन करना होगा। ऐसा करने के लिए हालांकि डीसी को लगातार जीत दर्ज करनी होगी जो उन्होंने इस सीजन में अभी तक नहीं की है।