IPL 2022: "अगर मुंबई इंडियंस ने..."- प्रज्ञान ओझा ने रोहित शर्मा को लेकर किया अहम खुलासा - क्रिकट्रैकर हिंदी

IPL 2022: “अगर मुंबई इंडियंस ने…”- प्रज्ञान ओझा ने रोहित शर्मा को लेकर किया अहम खुलासा

रोहित शर्मा ने डेक्कन चार्जस के साथ आईपीएल (IPL) में डेब्यू किया था, और तीन सालों तक फ्रेंचाइजी का हिस्सा थे।

Pragyan Ojha and Rohit Sharma
Pragyan Ojha and Rohit Sharma. (Photo Source: Instagram and Getty Images)

भारतीय कप्तान रोहित शर्मा की गिनती बेहतरीन कप्तानों में की जाती है। इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के इतिहास में रोहित शर्मा के नाम बतौर कप्तान सबसे ज्यादा खिताब जीतने का रिकॉर्ड दर्ज है। सलामी बल्लेबाज की कप्तानी में मुंबई इंडियंस (MI) ने पांच बार आईपीएल (IPL) खिताब जीता है।

आपको बता दें, साल 2013 में रोहित शर्मा को पहली बार मुंबई इंडियंस (MI) की अगुवाई करने का मौका मिला, और बतौर कप्तान अपने डेब्यू सीजन में ही उन्होंने फ्रेंचाइजी को चैंपियन बनाया, और फिर इसके बाद उन्होंने 2015, 2017, 2019 और 2020 में टीम को चार और आईपीएल (IPL) खिताब दिलाए।

हालांकि, बहुत ही कम लोग है, जो ये जानते हैं कि रोहित शर्मा को मुंबई इंडियंस (MI) से पहले डेक्कन चार्जर अपना कप्तान बनाना चाहती थी, लेकिन आईपीएल (IPL) ऑक्शन ने सारा खेल बिगाड़ दिया। इस बात का खुलासा डेक्कन चाजर्स के पूर्व खिलाड़ी प्रज्ञान ओझा ने किया है। रोहित शर्मा ने डेक्कन चार्जस के साथ आईपीएल (IPL) में डेब्यू किया था, और भारतीय कप्तान तीन सालों तक एडम गिलक्रिस्ट की अगुआई वाली टीम का हिस्सा थे।

प्रज्ञान ओझा ने रोहित शर्मा को लेकर किया अहम खुलासा

पूर्व भारतीय क्रिकेटर ने हाल ही में खुलासा किया हैं कि ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज एडम गिलक्रिस्ट ने रोहित शर्मा की कप्तानी कौशल और काबिलियत को पहचान लिया था, और उन्हें डेक्कन चार्जर्स का अगला कप्तान बनाने के बारे में सोच रहे थे। उन्होंने कुछ शानदार प्रदर्शनों के बाद अपनी एक पहचान बनाई, जिसके बाद मुंबई इंडियंस (MI) ने उन्हें 2011 आईपीएल (IPL) नीलामी में $ 2,000,000 में खरीदा और तब से वह इसी फ्रेंचाइजी का हिस्सा है।

क्रिकबज से बात करते हुए प्रज्ञान ओझा ने कहा: “रोहित शर्मा एक बल्लेबाज के रूप में असाधारण थे। तब मुंबई की घरेलू टीम ने भी उन्हें कप्तान के तौर पर नहीं देखा था, लेकिन मुझे स्पष्ट रूप से याद है कि जब एडम गिलक्रिस्ट कप्तान थे, उन्होंने रोहित को थिंक टैंक में रखा था। उन्होंने महसूस किया कि रोहित ने जिस तरह से बल्लेबाजी की, उन्होंने जो स्पष्टता दिखाई और दबाव की परिस्थितियों में उन्होंने जो क्षमता दिखाई, वो उनकी कप्तानी की काबिलियत को दर्शाता है, ये उनमें नेतृत्व के गुण हो सकते हैं। और जब उनके इनपुट आने लगे, तो निश्चित तौर पर लगा कि वह कप्तान हो सकते हैं।”

उन्होंने आगे कहा: “अगर तीसरे सीजन के बाद अगर नीलामी नहीं होती, तो शायद रोहित शर्मा ने मुंबई इंडियंस (MI) का नेतृत्व करने से पहले डेक्कन चार्जर्स की अगुवाई की होती। क्योंकि गिलक्रिस्ट पहले ही कह चुके थे कि ‘रोहित अब तैयार है’। लेकिन नीलामी में यह किसी के हाथ में नहीं था और सभी जानते थे कि मुंबई इंडियंस (MI) रोहित शर्मा के पीछे जाएगी, क्योंकि सचिन तेंदुलकर के बाद उन्हें लगा कि अगर कोई टीम का नेतृत्व कर सकता है, तो वह रोहित ही होंगे।”