"मैंने बहुत समय बाद ऐसा किया...."- वानखेड़े में शतक जड़ने के बाद Suryakumar Yadav ने दी बड़ी प्रतिक्रिया

“मैंने बहुत समय बाद ऐसा….”- वानखेड़े में शतक के बाद फॉर्म को लेकर सूर्यकुमार यादव ने दिया बड़ा बयान

सूर्यकुमार यादव ने 51 गेंदों में 102 रनों की नाबाद पारी खेली।

Suryakumar Yadav (Photo Source: BCCI/IPL)
Suryakumar Yadav (Photo Source: BCCI/IPL)

IPL 2024, MI vs SRH: Suryakumar Yadav Won POTM Award: आईपीएल 2024 के 55वें मैच में मुंबई इंडियंस ने सनराइजर्स हैदराबाद को 7 विकेट से करारी शिकस्त दी। मुकाबले में हैदराबाद ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 8 विकेट के नुकसान पर 173 रन बोर्ड पर लगाए थे। इसके जवाब में MI ने 16 गेंदें शेष रहते हुए लक्ष्य का पीछा कर 7 विकेट से जीत दर्ज की।

मुंबई इंडियंस के इस जीत के हीरो रहे सूर्यकुमार यादव (Suryakumar Yadav), जिन्होंने नाबाद शतकीय पारी खेली। सूर्या को उनके शानदार प्रदर्शन के लिए प्लेयर ऑफ द मैच का खिताब दिया गया है।

सूर्या ने छक्का जड़ पूरा किया था शतक

सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ लक्ष्य का पीछा करते हुए मुंबई इंडियंस को काफी ज्यादा खराब शुरुआत मिली थी। टीम ने 31 के स्कोर पर 3 विकेट गंवा दिए थे। ईशान किशन (9), रोहित शर्मा (4) और नमन धीर डक पर आउट हुए थे। जिसके बाद तिलक वर्मा और सूर्यकुमार यादव (Suryakumar Yadav) की जोड़ी ने सेट होने के लिए थोड़ा समय लिया। फिर सूर्या एक छोर से अटैकिंग बल्लेबाजी करते हुए नजर आए।

सूर्यकुमार यादव ने पारी के 13वें ओवर में 30 गेंदों में अपना अर्धशतक पूरा किया था। फिर 18वें ओवर की दूसरी गेंद पर छक्का लगाकर 51 गेंदों में शतक जड़ा था। सूर्या ने 200 की स्ट्राइक रेट से बल्लेबाजी करते हुए 51 गेंदों में 12 चौके और 6 छक्कों की मदद से 102 रनों की नाबाद पारी खेली। वहीं तिलक वर्मा ने 32 गेंदों में नाबाद 37 रन बनाए। दोनों बल्लेबाजों के बीच 143 रनों की मैच विनिंग साझेदारी हुई।

मैंने बहुत समय बाद ऐसा किया है- Suryakumar Yadav

प्लेयर ऑफ द मैच का खिताब जीतने के बाद सूर्यकुमार यादव (Suryakumar Yadav) ने पोस्ट मैच प्रजेंटेशन पर बात करते हुए कहा,

मैंने बहुत समय बाद ऐसा किया है। मैंने 20 ओवर तक फील्डिंग किया और 18 ओवर तक बल्लेबाजी की, केवल थका हुआ हूं (चिंता की कोई बात नहीं है।) मैं बल्लेबाजी करने गया, मुझे अंत तक बल्लेबाजी करने के लिए किसी की जरूरत थी। मैंने बस अपने समय का आनंद लिया। यह मुंबई स्कूल ऑफ आर्ट्स से है, वानखेड़े में बहुत क्रिकेट खेला है। जब गेंद ने सीम लेना बंद कर दिया तो मैंने अपने सभी शॉट खेले जिनका मैं नेट्स पर अभ्यास करता हूं। मुझे लगता है कि इरादा वही होता, मैं निश्चित रूप से उसी पैटर्न में खेलता हूं।’

close whatsapp