in

RCB नहीं बल्कि यह है आईपीएल की सबसे बदनसीब टीम, IPL 2019 में किस्मत बदलने के लिए किए ये जतन

IPL से पहले एक नज़र इस बात पर भी कि आखिर इस टीम से किस्मत क्यों रूठी रही

Hardik Pandya
Players of Delhi Daredevils celebrate the fall of Hardik Pandya’s wicket. (Photo by Surjeet Yadav/IANS)

आईपीएल याने क्रिकेट के साथ मनोरंजन और ग्लैमर का तड़का। इस बार भी आईपीएल का इंतज़ार बेसब्री से किया जा रहा है। यह तो सभी मानते हैं कि क्रिकेट के खेल में किस्मत का साथ बहुत ज़रूरी है। कई बार अच्छा खेल दिखाकर भी टीम को प्रत्याशित परिणाम नहीं मिल पाते, क्योंकि किस्मत उसके साथ नहीं होती। क्या आप जानते हैं कि आईपीएल में वो कौन सी टीम है, जिससे किस्मत सबसे अधिक रूठी रही? दूसरे शब्दों में, आईपीएल की सबसे बदनसीब टीम कौन सी है?

इस बदनसीबी का पैमाना यह है कि टीम ने अपने ओर से सारी कोशिशें कीं। अच्छे खिलाड़ी चुने, कॉम्बिनेशन बनाया लेकिन टीम फिर भी इसलिए नहीं जीत पाई, क्योंकि उसे किस्मत का साथ नहीं मिला। अगर आप इस पैमाने पर विरात कोहली की कप्तानी वाली टीम रॉयल चैलेंजर्स बैंगलुरु को तौल रहे हैं तो आपका अंदाज़ा गलत है। रॉयल चैलेंजर्स बैंगलुरु को आईपीएल की बड़ी टीम कहा जाता है। विश्व के दिग्गज क्रिकेटर इस टीम में खेल चुके हैं और खेल भी रहे हैं। इस टीम का कप्तान वह खिलाड़ी है, जिसका अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में रन औसत 50 रन के ऊपर ही है और उसका नाम है विराट कोहली।

फिर भी रॉयल चैलेंजर्स बैंगलुरु को आईपीएल की अनलकी टीम इसलिए कहा जाता है क्योंकि अब तक इस टीम ने कभी खिताब नहीं जीता, लेकिन ज़रा ठहरिये, आकड़े कहते हैं कि रॉयल चैलेंजर्स बैंगलुरु टीम इतनी भी अनलकी नहीं है, एक और टीम ऐसी है, जो रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु से भी अनलकी है।

एक टीम ऐसी भी है, जिसका नंबर इस मामले में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलुरु से भी नीचे है। वह टीम कोई और नहीं बल्कि आईपीएल की दिल्ली फ्रेंचाइसी है, जिसक अनाम पहले दिल्ली डेयर डेविल्स था और अब दिल्ली कैपिटल्स है।

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलुरु ने भले ही अब तक खिताब न जीता हो, लेकिन यह टीम तीन बार फाइनल में पहुंची है। 2009, 2011 और 2016 के आईपीएल सीज़न में यह टीम फाइनल में पहुंची और उपविजेता रही, लेकिन दिल्ली आईपीएल की एकमात्र ऐसी टीम है, जो आईपीएल के पिछले 11 साल के इतिहास में कभी भी फाइनल में नहीं पहुंची। दिल्ली का आईपीएल में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन अंतिम चार टीम में पहुंचना रहा। वह पहले आईपीएल सीज़न में सेमीफाइनल स्टेज तक पहुंची थी।

फाइनल में जगह न बनाने के अलावा भी दिल्ली टीम कभी ऐसी टीम नहीं रही जो अंक तालिका में लगातार जीतती दिखाई दी हो। आईपीएल 2008 ही उसके लिए बेहतरीन समय था।

दिल्ली ने लगातार अपने कप्तान भी बदले हैं, जिससे टूर्नामेंट की कोई ठोस रणनीति नहीं बन पाई। आईपीएल की शुरुआत में हारी तो मुंबई इंडियंस भी थी, लेकिन फिर वापसी करते हुए उसने आईपीएल के तीन खिताब जीते और इस टूर्नामेंट में सबसे अधिक बार टूर्नामेंट जीतने वाली टीम बनी। यही केस कोलकाता नाइट राइडर्स के साथ भी था, लेकिन उन्होंने सुधार किया और दो बार चैंपियन बने।

ऐसी कोई प्लानिंग दिल्ली की ओर से देखने को नहीं मिली। नतीजा सामने है कि वह सबसे फिसड्‍डी टीम है। रॉयल चैलेंजर्स हैवीवेट टीम है, जिससे लोगों को काफी उम्मीदें होती हैं, इसलिए जब वह फाइनल में पहुंचने जैसी उपलब्धि भी हासिल कर लेती है तब भी फैन्स को लगता है कि खिताब नहीं जीत पाई, कमी रह गई।

दिल्ली टीम में आईपीएल 2019 के लिए हुए ये बदलाव 

इस बार दिल्ली टीम ने अपनी आउटफिट, लोगो से लेकर नाम सबकुछ बदला है।कुछ बड़े खिलाड़ी भी टीम से जुड़े हैं। शायद यह बदलाव आईपीएल में बदले हुए परिणाम हासिल करने के लिए किया गया है। देखना यह होगा कि ये बदलाव इस बार आईपीएल में दिल्ली टीम की किस्मत बदल पाते हैं या नहीं?

आईपीएल 2019 के लिए ऐसी है दिल्ली कैपिटल्स टीम : श्रेयस अय्यर [कप्तान], ऋषभ पंत, पृथ्वी शॉ, अमित मिश्रा, अवेश खान, हर्षल पटेल, राहुल तेवतिया, जयंत यादव, मनजोत कालरा, कॉलिन मुनरो, क्रिस मॉरिस, कैगिसो रबाडा, संदीप लामिछाने, ट्रेंट बाउल्ट, शिखर धवन, हनुमान वाही। , एक्सर पटेल, इशांत शर्मा, अंकुश बैंस, नत्थू सिंह, कॉलिन इनग्राम, केमो पॉल, जलज सक्सेना, बंडारू अयप्पा।

Australia v England - Game 3

आईपीएल में खेल कर विश्व कप के लिए तैयारी करेगा यह खतरनाक ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज

Anil Kumble

न्यूजीलैंड के खिलाफ मैच जीतने का दिया अनिल कुंबले ने गुरु मंत्र