समय आ गया है कि जो रूट अब इंग्लैंड टीम की कप्तानी छोड़ दें: जेफ्री बॉयकॉट - क्रिकट्रैकर हिंदी

समय आ गया है कि जो रूट अब इंग्लैंड टीम की कप्तानी छोड़ दें: जेफ्री बॉयकॉट

रूट की कप्तानी में इस साल इंग्लैंड ने भारत के खिलाफ घर और विदेश तथा ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एशेज सीरीज गंवाई है।

Joe Root
Joe Root. (Photo Source: Getty Images)

साल 2021 इंग्लिश टीम के लिए टेस्ट फॉर्मेट में सबसे बुरे वर्षों में से एक रहा है। भले ही उनके टेस्ट कप्तान जो रूट के लिए व्यक्तिगत तौर पर यह साल बेमिसाल रहा है, लेकिन एक टीम के तौर पर इंग्लैंड के लिए इस साल कुछ भी अच्छा नहीं हुआ। मौजूदा एशेज सीरीज में ऑस्ट्रेलिया के हाथों सीरीज गंवाने के बाद जो रूट की नेतृत्व क्षमता पर भी सवाल उठने लगे हैं। इसी कड़ी में इंग्लैंड के पूर्व क्रिकटर जेफ्री बॉयकॉट ने तो रूट को टेस्ट कप्तानी से हटाने के लिए बोल दिया है।

जो रूट को अब टेस्ट कप्तानी छोड़ देनी चाहिए: जेफ्री बॉयकॉट

जेफ्री बॉयकॉट ने कहा है कि जिस तरह इंग्लिश टीम ने ऑस्ट्रेलिया के आगे घुटने टेक दिए हैं, वह शर्मनाक है। इसके साथ ही उन्होंने रूट की कप्तानी पर द टेलीग्राफ में अपने कॉलम में लिखा, “अब जब ऑस्ट्रेलिया 3-0 से आगे है और एशेज सीरीज जा चुकी है, क्या रूट यह कहना बंद करेंगे कि ऑस्ट्रेलिया हमसे बेहतर नहीं है? यदि वह सच में अपने कथन पर विश्वास करते हैं तो शायद समय आ गया है कि उन्हें इंग्लैंड क्रिकेट टीम की कप्तानी से हट जाना चाहिए।”

81 वर्षीय बॉयकॉट ने इसके बाद दाएं हाथ के बल्लेबाज रूट की रणनीति पर सवाल उठाया और उन्हें गलत ठहराया। उन्होंने कुछ उदाहरणों का हवाला दिया जहां उनके फैसलों का उलटा असर हुआ, जैसे कि गाबा जैसी तेज गेंदबाजी को मदद करती विकेट पर पहले क्षेत्ररक्षण का फैसला करना और उसी टेस्ट में जेम्स एंडरसन और स्टुअर्ट ब्रॉड की अनुभवी पेसर जोड़ी को नहीं चुनना।

बॉयकॉट ने कहा, “इंग्लैंड की कप्तानी करना हर क्रिकेटर का सपना होता है। रूट के पास खिलाड़ियों को अपनी रणनीति में ढालने के लिए 59 टेस्ट मैच थे। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 13 टेस्ट खेले हैं जिसमें केवल दो जीते हैं जबकि नौ में हार झेली है।” उन्होंने अपनी बात में यह जोड़ते हुए कहा कि रूट ने अब तक कप्तान के रूप में एशेज सीरीज नहीं जीती है।

गौरतलब है कि जो रूट की अगुवाई वाली इंग्लैंड की टीम के लिए एशेज सीरीज किसी बुरे सपने से कम नहीं रहा है। पहले टेस्ट से ही इंग्लिश टीम ऑस्ट्रेलिया के लिए चुनौती पेश करने में नाकामयाब रही है। वहीं, बल्लेबाजी में रूट के अलावा कोई भी बल्लेबाज कंगारू गेंदबाजों का सामना नहीं कर पा रहा है। एशेज सीरीज का चौथा टेस्ट सिडनी में 5-9 जनवरी 2022 तक खेला जाएगा।