पूर्व दिग्गज खिलाड़ी का अश्विन को लेकर बड़ा बयान जिसमें उन्होंने कहा अफ्रीका दौरे पर शायद उन्हें एक भी मैच खेलने का मौका ना मिले - क्रिकट्रैकर हिंदी

पूर्व दिग्गज खिलाड़ी का अश्विन को लेकर बड़ा बयान जिसमें उन्होंने कहा अफ्रीका दौरे पर शायद उन्हें एक भी मैच खेलने का मौका ना मिले

न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज में अश्विन ने भारतीय टीम के लिए सबसे ज्यादा विकेट हासिल किए।

Ravichandran Ashwin. (Photo Source: Twitter/BCCI)
Ravichandran Ashwin. (Photo Source: Twitter/BCCI)

न्यूजीलैंड के खिलाफ 2 मैचों की टेस्ट सीरीज में गेंद से शानदार प्रदर्शन करने वाले भारतीय टीम के सबसे अनुभवी स्पिन गेंदबाज रविचंद्रन अश्विन को लेकर अब इंग्लैंड टीम के पूर्व तेज गेंदबाज स्टीव हार्मिसन ने बड़ा बयान दिया है। जिसमें उन्होंने कहा है कि इस बात की काफी कम उम्मीद है कि भारतीय टीम के आगामी दक्षिण अफ्रीका दौरे पर एक उन्हें एक भी टेस्ट मैच खेलने का मौका मिले।

रविचंद्रन अश्विन ने न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज के दौरान 11.35 के इकॉनमी रेट के साथ 14 विकेट हासिल किए थे। इसके अलावा अश्विन ने इस सीरीज में बल्ले से कमाल दिखाते हुए 70 अहम रन भी बनाए थे। लेकिन हार्मिसन के अनुसार विराट कोहली की अभी तक की कप्तानी को देखते हुए यह कहना बेहद कठिन काम है कि अश्विन को अफ्रीका दौरे पर एक भी टेस्ट खेलने का मौका मिलेगा या नहीं।

वहीं स्टीव हार्मिसन ने यह भी कहा कि अजिंक्य रहाणे और चेतेश्वर पुजारा का मौजूदा समय में खराब फॉर्म होने बावजूद वह इस टेस्ट सीरीज में खेलते हुए दिखाई देंगे।

आप कभी नहीं समझ सकते कि विराट क्या चाहते हैं

स्टीव हार्मिसन ने अपने यूट्यूब चैनल के जरिए कहा कि, समस्या यह है कि जब आप इस समय संभावित भारतीय टीम को लेकर विचार करेंगे तो कोहली के अनुसार और उनकी सोच को समझना होगा। क्योंकि हम में से कोई यह नहीं सोच सकता था कि अश्विन को इंग्लैंड के पिछले दौरे पर एक भी मैच खेलने का मौका नहीं मिलेगा। आप कभी नहीं समझ सकते कि विराट कोहली बतौर कप्तान आखिर क्या चाहते हैं।

आगामी दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर भारतीय टीम के साथ न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज में शतकीय पारी खेलने वाले श्रेयस अय्यर और मयंक अग्रवाल भी होंगे। लेकिन यदि टेस्ट सीरीज के दौरान रहाणे और पुजारा टीम में दिखें तो उसमें किसी को हैरानी में नहीं पड़ना चाहिए।

दक्षिण अफ्रीका का दौरा 26 दिसंबर से 3 मैचों की टेस्ट सीरीज के साथ शुरू होगा, जो पहले 17 दिसंबर से शुरू होना था, लेकिन  वहां ओमिक्रॉन वेरिएंट मिलने की वजह से अफ्रीका का दौरा एक हफ्ते की देरी से शुरू करने का फैसला लिया गया है।