जम्मू कश्मीर क्रिकेट एसोसियेशन ने क्रिकेटर परवेज रसूल पर लगाया पिच रोलर चोरी का आरोप - क्रिकट्रैकर हिंदी

जम्मू कश्मीर क्रिकेट एसोसियेशन ने क्रिकेटर परवेज रसूल पर लगाया पिच रोलर चोरी का आरोप

परवेज रसूल ने भारतीय टीम के लिए 1 वनडे और 1 टी-20 मैच खेला है।

Parvez Rasool. (Photo Source: Twitter)
Parvez Rasool. (Photo Source: Twitter)

जम्मू -कश्मीर से आने वाले भारतीय क्रिकेट टीम के लिए खेल चुके ऑफ स्पिनर परवेज रसूज पर चोरी का आरोप लगा है। दरअसल जम्मू-कश्मीर क्रिकेट एसोसियेशन ने परवेज पर पिच रोलर को चोरी करने के आरोप लगाने के साथ यह कहा है कि यदि वह इसे वापस नहीं करते हैं, तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

अपनी ऑफ स्पिन गेंदबाजी के साथ बल्लेबाजी की प्रतिभा के चलते परवेज रसूल ने जहां एक समय भारतीय टीम  जगह बनाने में कामयाब हुए थे, तो वहीं उन्होंने जम्मू और कश्मीर राज्य की टीम को कई मैचों में जीत दिलाते हुए उसे एक बेहद मजबूत टीम बनाने का भी काम किया था। रसूल को 1 वनडे और 1 टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच भारतीय टीम से खेलने का मौका मिला था।

परवेज रसूल जहां अपने राज्य में एक दिग्गज खिलाड़ी के तौर पर पहचाने जाते हैं, वहां पर जम्मू और कश्मीर क्रिकेट संघ का उनके खिलाफ इस तरह का आरोप लगाना किसी को समझ नहीं आया। संघ ने रसूल को एक नोटिस जारी करते हुए पिच रोलर को वापस करने की बात कही और यदि वह ऐसा नहीं करते हैं, तो उनके खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई जाएगी।

परवेज रसूल ने आरोपों को नकारा

इस पूरी घटना से आहत होकर परवेज रसूल ने अपने उपर लगे सभी आरोपों को पूरी तरह से नकारते हुए संघ पर अपनी नाराजगी को व्यक्त किया। इंडियन एक्सप्रेस में छपे रसूल के बयान के अनुसार उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर के साथ इस तरह का व्यवहार सही नहीं है, जिसने अपना जीवन और सबकुछ जम्मू और कश्मीर में क्रिकेट की बेहतरी के लिए दे दिया।

दरअसल यह स्थिति उस समय बिगड़ी जब भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) द्वारा नियुक्त JKCA की तीन सदस्यीय उप-समिति में शामिल भाजपा प्रवक्ता ब्रिगेडियर (रिटायर्ड) अनिल गुप्ता ने ईमेल करके पूछा कि क्या हमारे पास उन्हें गलत साबित करने के लिए कोई सबूत है? उन्होंने अपने मेल में रसूल के साथ साथ टीम के अन्य लोगों को भी यह संदेश मेल किया है।

इस पूरे मामले पर अनिल गुप्ता ने कहा कि विवाद को बेवजह बढ़ावा दिया जा रहा है। रसूल को मेल इसलिए लिखी गई क्योंकि सभी जिलों के क्रिकेट एसोसिएशन के मेल एड्रेस उपलब्ध नहीं हैं। JKCA के रजिस्टर में परवेज रसूल का नाम, उनके जिले के साथ लिखा हुआ था, इसलिए यह मेल उनको भी कर दी गई। बता दें कि इस मेल में लिखा है कि कोई कठोर कदम उठाने से पहले आपको JKCA की सभी मशीनरी वापस करने का निर्देश दिया जाता है। ऐसा नहीं करने पर JKCA कार्रवाई के लिए स्वतंत्र है।