जोहान्सबर्ग टेस्ट मैच में रिषभ पंत ने वैन डर डुसेन के साथ बहसबाजी में पड़कर अपना विकेट दिया दान में - क्रिकट्रैकर हिंदी

जोहान्सबर्ग टेस्ट मैच में रिषभ पंत ने वैन डर डुसेन के साथ बहसबाजी में पड़कर अपना विकेट दिया दान में

रिषभ पंत सिर्फ 3 गेंदों का सामना करके बिना खाता खोले ही पवेलियन लौट गए।

Rishabh Pant. (Photo Source: Twitter/Aman)
Rishabh Pant. (Photo Source: Twitter/Aman)

साउथ अफ्रीका और भारत के बीच में इस समय जोहान्सबर्ग के मैदान में खेला जा रहा 3 मैचों की टेस्ट सीरीज का दूसरा मैच बेहद रोमांचक स्थिति में पहुंच चुका है। जिसमें भारतीय टीम मैच की चौथी पारी में अब मेजबान टीम को 200 से अधिक का लक्ष्य देने में कामयाब हो चुकी है, जिसके चलते उसके मैच में जीतने की चांस भी काफी बढ़ गए हैं।

तीसरे दिन के खेल में सभी की नजरें अब तक चर्चा का विषय बने अजिंक्य रहाणे और चेतेश्वर पुजारा सभी पर लगी हुई थी। जिसके बाद दोनों के बीच में शतकीय साझेदारी देखने को मिली जिसकी बदौलत टीम एक मजबूत स्थिति में पहुंचते हुए दिखाई दी। रहाणे जहां 58 तो वहीं पुजारा 53 रन बनाकर जैसे ही पवेलियन लौटे तो भारतीय टीम पर दबाव एकबार फिर से बढ़ चुका था।

जिसके बाद सभी भारतीय फैंस को उम्मीद थी कि विकेटकीपर बल्लेबाज रिषभ पंत इस पारी में बेहतर प्रदर्शन देखने करते हुए दिखाई देंगे लेकिन ठीक इसके विपरीत देखने को मिला। जिसमें पंत जब बल्लेबाजी के लिए मैदान में उतरे तो उनके और डुसेन के बीच में कहासुनी भी देखने को मिली। जिसमें पंत ने डुसेन को जवाब देते हुए उन्हें अपना मुंह बंद रखने के लिए भी कह दिया।

इसके बाद तीसरी ही गेंद पर पंत ने आगे बढ़कर बड़ा शॉट खेलने का प्रयास किया जिसके बाद रबाडा की गेंद उनके बल्ले का बाहरी किनारा लेकर विकेटकीपर के दस्तानों में चली गई। जिसके बाद पंत के इस तरह विकेट गंवाने के तरीके से साफतौर पर सभी के अंदर एक नाराजगी भी देखने को मिली। यहा बात ध्यान रखने वाली है कि पिछले काफी समय से पंत के बल्ले से कोई बड़ी पारी देखने को नहीं मिली है।

यहां पर देखिए पंत के आउट होने के तरीके को

पुजारा, रहाणे के बाद हनुमा और शार्दुल ने दिखाया बल्ले से दम

तीसरे दिन का खेल शुरू होने के साथ पहले सत्र में जहां अजिंक्य रहाणे और चेतेश्वर पुजारा के बल्ले से अर्धशतकीय पारी देखने को मिली जिससे भारतीय टीम बेहतर स्थिति में पहुंचने में कामयाब रही। इन दोनों के पवेलियन लौटने के बाद अचानक भारतीय पारी में एक जल्दी-जल्दी विकेट गिरते हुए देखने को मिले। जिसके बाद हनुमा विहारी और शार्दुल ठाकुर के बीच में एक छोटी लेकिन उपयोगी साझेदारी देखने को मिली।

जहां हनुमा विहारी ने 40 अहम रन बनाए तो वहीं शार्दुल के बल्ले से 28 रन देखने को मिले। जिसके चलते भारतीय टीम अपनी दूसरी पारी में 266 के स्कोर तक पहुंचने में कामयाब रही और अफ्रीकी टीम को मैच की चौथी पारी में 200 से अधिक लक्ष्य भी मिला।