आखिर क्यों युजवेंद्र चहल ने कुलदीप यादव को दी चांटा मारने की धमकी! - क्रिकट्रैकर हिंदी
हिंदी

आखिर क्यों युजवेंद्र चहल ने कुलदीप यादव को दी चांटा मारने की धमकी!

कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल आखिरी बार एकसाथ साल 2019 के वनडे वर्ल्ड कप में खेलते हुए नजर आए थे।

kuldeep yadav and yuzvendra chahal have fun while playing dumb charades
kuldeep yadav and yuzvendra chahal have fun while playing dumb charades

श्रीलंका दौरे पर भारतीय टीम 18 जुलाई से 3 मैचों की वनडे सीरीज खेलने की तैयारी कर रही है। इसके बाद दोनों ही टीमों के बीच 3 मैचों की टी-20 सीरीज भी खेली जाएगी। भारतीय खिलाड़ी जुलाई महीने के पहले सप्ताह में ही श्रीलंका पहुंच गए थे, लेकिन श्रीलंकाई टीम के कैंप में कोरोना संक्रमण मामले सामने आने के बाद इस सीरीज को 13 जुलाई की जगह 18 जुलाई से शुरू करने का फैसला किया गया है।

इस दौरे पर भारतीय टीम को शिखर धवन की कप्तानी में खेलने भेजा गया है, जिसमें 20 सदस्यों की टीम में 6 अनकैप्ड खिलाड़ी मौजूद हैं। नए खिलाड़ियों के अलावा टीम में कप्तान धवन के अलावा अनुभवी खिलाड़ियों के तौर पर भुवनेश्वर कुमार, हार्दिक पांड्या, युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव शामिल हैं।

लिमिटेड ओवर्स की यह सीरीज युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव दोनों के लिए बेहद महत्वपूर्ण मानी जा रही है। कुलदीप जहां इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में टीम का हिस्सा तो थे, लेकिन बाद में उन्हें टीम से बाहर कर दिया गया। वहीं आईपीएल के 14वें सीजन के पहले हाफ में कुलदीप को एक भी मैच खेलने का मौका नहीं मिला।

कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल के पास टीम में फिर से एकसाथ खेलने का एक शानदार मौक इस सीरीज के जरिए मिल सकता है। श्रीलंका टीम का प्रदर्शन बेहद खराब देखने को मिल रहा है और कुलचा जोड़ी अपना कमाल दिखा देती है, तो यह भारतीय टीम के लिए भी बेहद राहत भरी खबर होगी।

सीरीज शुरू होने से पहले दोनों स्पिन गेंदबाज एक शानदार गेम में साथ खेलते हुए दिखाई दिए। इस गेम में कुलदीप अपने इशारे के जरिए चहल को नाम पता करने में मदद कर रहे हैं, जिसकी उन्होंने चिट को पकड़कर रखा हुआ है।

यहां पर देखिए उस वीडियो को

भारतीय टीम के लिए दोनों का बेहतर प्रदर्शन करना बेहद जरूरी

युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव को एकसाथ लिमिटेड ओवर्स में खेलने का मौका साल 2017 से मिला, जिसके बाद विराट कोहली की कप्तानी में दोनों अगले 2 सालों तक टीम कई मैच में जीत दिलाने में अहम भूमिका अदा की। यदि दोनों में से यदि एक दबाव बनाता था, तो दूसरा विकेट लेने का काम करता था, जिससे टीम को बीच के ओवरों में भी विकेट हासिल करने में मदद मिली।

लेकिन साल 2019 वनडे वर्ल्ड कप के बाद से टीम मैनेजमैंट ने इस जोड़ी को साथ में ना खिलाने का फैसला किया। टीम ने इस दौरान वाशिंगटन सुंदर, रविंद्र जडेजा और अक्षर पटेल को तरजीह दी।