ऑस्ट्रेलिया को भारत दौरे से पहले लगा बड़ा झटका; मिचेल मार्श जिम्बाब्वे, न्यूजीलैंड सीरीज से हुए बाहर - क्रिकट्रैकर हिंदी

ऑस्ट्रेलिया को भारत दौरे से पहले लगा बड़ा झटका; मिचेल मार्श जिम्बाब्वे, न्यूजीलैंड सीरीज से हुए बाहर

जिम्बाब्वे सीरीज के बाद ऑस्ट्रेलिया तीन मैचों की वनडे सीरीज में न्यूजीलैंड की मेजबानी करेगा।

Australian cricketer Mitchell Marsh
Australian cricketer Mitchell Marsh speaks during a press conference. (Photo by Mark Evans/Getty Images)

ऑस्ट्रेलिया के स्टार ऑलराउंडर मिचेल मार्श टखने की चोट के कारण जिम्बाब्वे के खिलाफ शेष दो वनडे मैचों से बाहर हो गए हैं। ऑस्ट्रेलियाई वेबसाइट cricket.com.au के अनुसार, मिचेल मार्श 28 अगस्त को टाउन्सविले में जिम्बाब्वे के खिलाफ खेले गए पहले वनडे मुकाबले के बाद अपने टखने में दर्द का अनुभव कर रहे थे।

आपको बता दें, ऑस्ट्रेलिया ने इस मैच में जिम्बाब्वे को पांच विकेट से पटखनी दी, जबकि इस सीरीज का दूसरा और तीसरा वनडे मैच क्रमशः 31 अगस्त और 3 सितम्बर को खेला जाएगा। इस सीरीज के बाद ऑस्ट्रेलिया तीन मैचों की वनडे सीरीज में 6 सितम्बर में न्यूजीलैंड की मेजबानी करने के लिए तैयार है।

मिचेल मार्श टखने की चोट के कारण घरेलू सीरीज से हुए बाहर

हालांकि, मिचेल मार्श टखने की चोट के कारण न्यूजीलैंड के खिलाफ आगामी तीन मैचों की वनडे सीरीज के लिए भी उपलब्ध नहीं होंगे, क्योंकि ऑस्ट्रेलिया आगामी टी-20 वर्ल्ड कप 2022 को ध्यान में रखते हुए कोई जोखिम नहीं उठाना चाहता है। लेकिन ऑलराउंडर के अगले महीने ऑस्ट्रेलिया के भारत दौरे के लिए फिट होने की उम्मीद है।

इस बीच, ऑस्ट्रेलिया के विकेटकीपर-बल्लेबाज जोश इंगलिस, जो द हंड्रेड 2022 में लंदन स्पिरिट का हिस्सा हैं, को जिम्बाब्वे सीरीज के लिए मिचेल मार्श के प्रतिस्थापन के रूप में टीम में शामिल किया गया है। लेकिन जिम्बाब्वे के खिलाफ दूसरे वनडे के लिए जोश इंगलिस के समय पर पहुंचने की संभावना बहुत कम है।

स्टीव स्मिथ ने संवाददाताओं से कहा: “यह स्पष्ट रूप से मिचेल मार्श के लिए निराशाजनक है। वह हाल ही में सीमित ओवरों के क्रिकेट में बहुत अच्छा प्रदर्शन कर रहा था, और जिस तरह से हमने जिम्बाब्वे के खिलाफ अधिक ऑलराउंडरों के साथ जाने का फैसला किया था, वह उस योजना का एक बड़ा हिस्सा था।

मैं मिच के लिए निराशा हूं, लेकिन हमारे सामने कई महत्वपूर्ण चीजें आ रही हैं, वह पिछले साल हमारे विजयी टी-20 वर्ल्ड कप अभियान का एक बड़ा हिस्सा था और निश्चित रूप से इस साल भी उसके लिए बड़ी योजनाएं हैं, इसलिए हमारा मुख्य उद्देश्य सबसे पहले उसे ठीक करना है।”