in ,

चलते मैच में धोनी ने अपनी इस हरकत से कर दिया केदार जाधव को हैरान, ट्वीट कर दिया यह रिएक्शन

धोनी ने इस तरह बढ़ाया केदार जाधव का हौंसला

Kedar Jadhav and MS Dhoni. (Photo by Hagen Hopkins/Getty Images)
Kedar Jadhav and MS Dhoni. (Photo by Hagen Hopkins/Getty Images)

महेंद्रसिंह धोनी जितने अच्छे बल्लेबाज हैं, उतने ही अच्छे विकेटकीपर भी कहे जाते हैं। आज वेलिंगटन में न्यूजीलैंड के खिलाफ खेले गए पांचवें और अंतिम मुकाबले में जीत का श्रेय उन्हें भी जाता है। जिस तरह उन्होंने बेहतरीन बल्लेबाजी कर रहे जेम्स निशाम (44 रन) को अपने जाल में उलझाकर रन आउट किया उसने सभी को हैरान कर दिया। इस पल को ही मैच का टर्निंग पाइंट भी कहा जा रहा है।

हालांकि आलराउंडर केदार जाधव तो मैच में उस समय भी हैरान रह गए जब धोनी ने उन्हें मराठी में सलाह दी। पिछले 12 महीनों से जाधव एक पार्टी टाइमर के तौर पर गेंदबाजी कर रहे हैं और हमेशा कहते दिखाई देते हैं कि धोनी ने उनके करियर को पूरी तरह बदल दिया। उनकी तरह ही कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल भी अपनी सफलता का श्रेय धोनी को ही देते हैं।

स्तब्ध रह गए जाधव : अकसर धोनी को विकेट के पीछे से गेंदबाजों को हिंदी में सलाह देते देखा गया। स्टंप माइक पर उनकी आवाज भी स्पष्‍ट सुनाई देती है। आज वेलिंगटन में उन्होंने जाधव को स्टंप के पीछे से मराठी में कुछ कहा। महाराष्‍ट्र से आने वाले जाधव की मातृभाषा मराठी है। उन्हें इस तरह मराठी में टिप्स देते देख जाधव भी कुछ देर के लिए स्तब्ध रह गए।

सोशल मीडिया पर वाइरल हुआ वीडियो : धोनी ने कहा कि पकड़ो नाको भाऊ… गेऊन टेक इसका मतलब है गेंद को दूर मत फेंको भाई… करीब लाओ। स्टंप माइक पर 39वें ओवर में धोनी को यह कहते सुना गया।

केदार जाधव ने ट्वीट पर की यह बड़ी बात : इस बीच, केदार जाधव भी धोनी के मराठी में बोलने पर स्तब्ध रह गए और उन्होंने भी मराठी में ही अपना जवाब दिया। जाधव भी इस बात से खुश थे कि जिस खिलाड़ी को वह विकेट के पीछे पसंद करते हैं, दो मैचों के बाद एक बार फिर मैदान में था। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि जब स्टम्प्स के पीछे धोनी हो तो आप हमेशा विदेशों में भी घर जैसा महसूस करते हैं।

Hardik Pandya with team india (photo by bcci/twitter)

वेलिंगटन में हार्दिक पांड्‍या को खेलते देख खुश हुआ यह दिग्गज, सीरीज के 2 मैचों में खली थी इनकी कमी

Raydu (Twitter)

विराट कोहली और सचिन नहीं बना पाए, वह रिकॉर्ड अंबाती रायडू ने बना डाला