19 साल के सिद्धार्थ मोहिते ने किया अनोखा कारनामा, गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज होगा नाम! - क्रिकट्रैकर हिंदी

19 साल के सिद्धार्थ मोहिते ने किया अनोखा कारनामा, गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज होगा नाम!

सिद्धार्थ मोहिते ने 2015 में बनाये गये विराग माने के 50 घंटे तक बल्लेबाजी करने का रिकॉर्ड तोड़ा।

Bat and Ball
Bat and Ball. (Photo Source: Getty Images)

मुंबई को पिछले वर्षों से भारतीय क्रिकेट में एक से बढ़कर एक क्रिकेटरों को लाने के लिए जाना जाता है और इस बात का प्रमाण उनके रणजी ट्रॉफी खिताबों की संख्या से साफ स्पष्ट हो जाती है। सुनील गावस्कर के जमाने से लेकर सचिन तेंदुलकर और अब रोहित शर्मा मुंबई से कई दिग्गज प्रतिभाशाली खिलाड़ी सामने निकलकर आए हैं।

देश में कड़ी प्रतिस्पर्धा ने युवा क्रिकेटरों को अपना नाम आगे बढ़ाने के लिए विभिन्न तरीकों की कोशिश करने के लिए प्रेरित किया है और इस तरह खेल का विकास भी हुआ है। गिनीज रिकॉर्ड हमेशा कुछ ऐसा रहा है जिसका युवाओं ने सपना देखा है लेकिन कुछ ने जहां इसमें सफलता पाई है वहीं बहुत से लोग इस बुक में अपना रिकॉर्ड दर्ज करवाने में कामयाब नहीं हो पाए हैं।

मैं लोगों को दिखाना चाहता था कि मुझमें कुछ अलग क्षमता है-सिद्धार्थ मोहिते

लेकिन मुंबई के एक किशोर सिद्धार्थ मोहिते ने नेट सत्र के दौरान 72 घंटे, पांच मिनट क्रीज पर बिताए और अब वह गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड्स से उनकी इस उपलब्धि को मान्यता मिलने का इंतजार कर रहे हैं। 19 साल के सिद्धार्थ मोहिते ने पिछले हफ्ते 72 घंटे पांच मिनट बल्लेबाजी करके विराग माने के द्वारा 2015 में बनाए गए 50 घंटे तक बल्लेबाजी करने के रिकॉर्ड को तोड़ दिया है।

इसको लेकर सिद्धार्थ मोहिते ने मुंबई में जारी एक मीडिया रिलीज में कहा कि, “मैं बहुत खुश हूं कि मैंने जो कोशिश की थी उसे पूरा किया। यह एक तरीका था जिससे मैं लोगों को दिखाना चाहता था कि मुझमें कुछ अलग करने की क्षमता है। COVID लॉकडाउन के कारण, मैंने क्रिकेट के दो अच्छे साल गंवाए जो एक बड़ा नुकसान था। इसलिए, मैंने कुछ अलग करने के बारे में सोचा और अचानक यह विचार मेरे मन में आया और फिर मैंने कई अकादमियों और कोचों से संपर्क किया।”

उन्होंने आगे कहा कि ज्वाला सिंह ने उनको सपोर्ट किया, जबकि कई कोचों ने उनके फैसले को स्वीकार नहीं किया था। विशेष रूप से, ज्वाला यशस्वी जायसवाल के बचपन के कोच हैं, जिन्होंने 2020 में शानदार अंडर -19 विश्व कप जीता था। मोहिते ने कहा कि, “हर किसी ने मुझे मना किया। फिर मैंने ज्वाला सर से संपर्क किया तो उन्होंने कहा क्यों नहीं? उन्होंने हर तरह से मेरा समर्थन किया और जो कुछ भी आवश्यक था वह प्रदान किया।”

close whatsapp