इतना तो भारतीय टीम शेन वार्न से भी नहीं डरी, जितना खौफ इस फिरकी गेंदबाज का है - क्रिकट्रैकर हिंदी

इतना तो भारतीय टीम शेन वार्न से भी नहीं डरी, जितना खौफ इस फिरकी गेंदबाज का है

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेली जा रही 4 टेस्ट मैचों की सीरीज में ऑस्ट्रेलियाई फिरकी गेंदबाज नाथन लियोन ने कमाल की गेंदबाजी की है।

सीरीज के पहले 2 मैचों में 16 विकेट लेकर लियोन भारतीय बल्लेबाजों में डराने में सफल रहे हैं।
दाएं हाथ से ऑफ ब्रेक गेंदबाजी करने वाले नाथन लियोन ने 2011 में श्रीलंका के खिलाफ अपने टेस्ट करियर की शुरुआत की थी लेकिन उन्हें ज्यादा नोटिस नहीं किया गया। 2013 में ऑस्ट्रेलिया की ओर से इंग्लैंड के खिलाफ एशेज में खेलने वाले एकमात्र स्पिनर थे।

Nathan Lyon
Nathan Lyon of Australia bowls. (Photo by Scott Barbour/Getty Images)

इस सीरीज में उन्होंने 19 विकेट लिए और उन्हें दक्षिण अफ्रीका दौरे के लिए भी चुना गया। पहले उन्हें एक साधारण गेंदबाज माना गया लेकिन अब उन्हें ऑस्ट्रेलिया टीम ने गंभीरता से लेना शुरू किया गया है।
एडिलेड ओवल में ग्राउंड स्टाफ के रूप में अपने करियर की शुरुआत करने वाले नाथन लियोन ने अपने करियर में 83 टेस्ट मैचों में 335 विकेट हासिल किए हैं।

शेन वार्न की विदाई के बाद जब ऑस्ट्रेलियाई टीम को एक अच्छे स्पिनर की तलाश ली, नाथन लियोन ने राष्ट्रीय टीम में अपनी जगह बनाई। उन्होंने अपने करियर की पहली ही गेंद पर कुमार संगाकारा जैसे दिग्गज को आउट किया, उस मैच में पहली पारी में 34 रन देकर 5 विकेट हासिल किए।

ऑस्ट्रेलिया में उन्होंने अपना पहला टेस्ट गाबा में न्यूजीलैंड के खिलाफ खेला था। इस मैच में भी वह 7 विकेट लेने में सफल रहे। इसके बाद भी उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के लिए कई मैच खेले लेकिन मौकों का फायदा नहीं उठा पाए।

इस वजह उन्हें टीम से बाहर भी होना पड़ा। 2017 में भी उन्होंने भारत में भारत के खिलाफ जबरदस्त प्रदर्शन किया था। बेंगलुरु में खेले गए दूसरे टेस्ट में 59 रन देकर 8 विकेट हासिल किए थे।

2018 में पा‍किस्तान के खिलाफ टेस्ट सीरीज में एक बार फिर उन्हें टीम में शामिल किया गया। लियोन ने यहां दूसरे टेस्ट के पहले दिन एक के बाद एक लगातार चार विकेट चटकाते हुए पूर्व तेज गेंदबाज मिशेल जॉनसन को विकेट लेने के मामले में पीछे छोड़ दिया।

भारतीय टीम पिछले चार सालों में किसी भी स्पिनर को लेकर इतनी चिंतित नजर नहीं आई, जितनी लियोन को लेकर नजर आ रही है। उन्हें एक स्पिनर का डर है। बहरहाल तीसरे टेस्ट में टीम इंडिया ने लियोन का सामना करने के लिए एक बेहतर रणनीति बनाई है।

कुल मिलाकर भारतीय टीम इस सीरीज़ में लियोन का इस कदर खौफ महसूस कर रही है, जितना कि कभी उसने महान लेग स्पिनर शेन वॉर्न का भी नहीं रहा होगा।