लिमिटेड ओवर्स सीरीज के लिए ल्यूक राइट को न्यूजीलैंड ने अपने कोचिंग स्टाफ में किया शामिल - क्रिकट्रैकर हिंदी

लिमिटेड ओवर्स सीरीज के लिए ल्यूक राइट को न्यूजीलैंड ने अपने कोचिंग स्टाफ में किया शामिल

न्यूजीलैंड की टीम को आयरलैंड, स्कॉटलैंड और नीदरलैंड्स में लिमिटेड ओवर्स की सीरीज खेलनी है।

Luke Wright (Photo by Robert Prezioso – CA/Cricket Australia/Getty Images)
Luke Wright (Photo by Robert Prezioso – CA/Cricket Australia/Getty Images)

न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम ने आगामी यूके दौरे के लिए इंग्लैंड क्रिकेट के पूर्व धाकड़ ऑलराउंडर खिलाड़ी ल्यूक राइट को अपने कोचिंग स्टाफ में शामिल करने का फैसला किया है। न्यूजीलैंड को आयरलैंड, स्कॉटलैंड और नीदरलैंड्स में लिमिटेड ओवर्स सीरीज खेलनी हैं। न्यूजीलैंड टीम के कोचिंग स्टाफ को लेकर बात की जाए तो उसमें ल्यूक राइट के अलावा पहले से ही डिओन इब्राहिम, डीन ब्राउनलिन और ग्रेमी एल्ड्रिज मौजूद हैं।

इसके अलावा टीम के गेंदबाजी कोच के रूप में शाने जुर्गेसेन और बल्लेबाजी कोच ल्यूक रांकी भी हैं। जिसमें राष्ट्रीय टीम के पास अब प्रत्येक विभाग में अलग से जहां मेंटोर हैं वहीं टीम के मुख्य कोच गैरी स्टीड को ल्यूक राइट की नियुक्ति के बाद काफी खुशी है। बता दें कि पिछले कुछ सालों में कीवी टीम का प्रदर्शन शानदार देखने को मिला था। जिसमें टीम ने वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के पहले संस्करण का खिताब भी अपने नाम किया था।

इसके अलावा टीम ने पिछले 3 ICC टूर्नामेंट के फाइनल तक भी अपनी जगह बनाई है। जिसके बाद कीवी टीम को अगले कुछ महीनों में काफी क्रिकेट खेलना है, जिसको लेकर टीम को और भी बेहतर तैयारी के साथ मैदान पर उतरना होगा ताकि टीम के सभी खिलाड़ी अच्छा प्रदर्शन कर सके।

ल्यूक के जुड़ने से हमें यूके के हालात में खेलने काफी मदद मिलेगी

कीवी टीम के मुख्य कोच ल्यूक राइट का ESPN क्रिकइंफों में छपे बयान के अनुसार उन्होंने कहा कि, ल्यूक के शामिल होने से जहां टीम को और भी बेहतर तरीके तैयारी करने मदद मिलेगी वहीं इससे हमारे कोचिंग स्टाफ को भी काफी मदद मिलने वाली है। जिसमें टीम में मौजूद सभी कोच एक-दूसरे से काफी कुछ सीख सकते हैं।

स्टीड ने अपने बयान में आगे कहा कि, डिओन ने घरेलू क्रिकेट में बतौर मुख्य कोच काफी बेहतर किया है, जिसके बाद मुझे विश्वास है कि उनके राष्ट्रीय टीम के साथ जुड़ने पर इसका सभी को लाभ मिलेगा। वहीं ल्यूक के आने से हमें यूके के हालात के बारे में और बेहतर जानकारी मिल सकेगी वहीं उनके पास वर्ल्ड क्रिकेट में सभी जगह पर टी-20 क्रिकेट खेलने का भी अनुभव है जिसका लाभ टीम को इन आगामी दौरों पर जरूर मिलेगा।