रणजी ट्रॉफी 2021-22: पृथ्वी शॉ ने ग्रुप स्टेज के मैचों के बाद रणजी ट्रॉफी में अपने प्रदर्शन पर डाला प्रकाश - क्रिकट्रैकर हिंदी

रणजी ट्रॉफी 2021-22: पृथ्वी शॉ ने ग्रुप स्टेज के मैचों के बाद रणजी ट्रॉफी में अपने प्रदर्शन पर डाला प्रकाश

पृथ्वी शॉ ने स्वीकार किया है कि आगामी आईपीएल 2022 और रणजी ट्रॉफी 2021-22 के अंतिम चरण के बीच निश्चित रूप से एक लंबा ब्रेक है।

Prithvi Shaw. (Photo by Ryan Pierse/Getty Images)
Prithvi Shaw. (Photo by Ryan Pierse/Getty Images)

भारत के युवा बल्लेबाज पृथ्वी शॉ को फरवरी 2018 में भारतीय टीम को रिकॉर्ड चौथी बार आईसीसी अंडर-19 वर्ल्ड कप दिलाने के बाद भारतीय क्रिकेट के भविष्य के सितारे के रूप में देखा जा रहा था। 2018 अंडर-19 वर्ल्ड कप जीतने के बाद पृथ्वी शॉ को दिल्ली कैपिटल्स (DC) के साथ इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में 1.2 करोड़ रुपये का एक आकर्षक अनुबंध मिला।

उसी साल अक्टूबर में पृथ्वी शॉ को वेस्टइंडीज के खिलाफ भारतीय क्रिकेट टीम के लिए टेस्ट डेब्यू करने का मौका मिला, जहां वह भारत के लिए टेस्ट क्रिकेट में अपने पदार्पण मैच में शतक बनाने वाले सबसे कम उम्र के बल्लेबाज बने। हालांकि, चोटों और खराब फॉर्म के चलते पृथ्वी शॉ को टीम इंडिया के लिए लगातार खेलने के मौका नहीं मिला। इस युवा खिलाड़ी को भारत के आखिरी बार खेले हुए एक साल से भी अधिक का समय हो गया है, जबकि उन्होंने करीब दो साल पहले टेस्ट क्रिकेट खेला था।

40 और 50 रन क्रिकेट में कुछ भी नहीं है: पृथ्वी शॉ

हालांकि, भारत के सबसे प्रमुख रेड बॉल घरेलू टूर्नामेंट रणजी ट्रॉफी 2021-22 की वापसी से कई खिलाड़ियों के लिए एक बार फिर भारतीय टीम में वापसी करने की आश जगी है, और उन्ही में से एक मुंबई के बल्लेबाज पृथ्वी शॉ भी हैं। वह जारी रणजी ट्रॉफी 2021/22 में मुंबई का नेतृत्व कर रहे है। होनहार बल्लेबाज ने अब तक जारी प्रतियोगिता में 9, 44 और 53 रन बनाए हैं। उन्होंने स्वीकार किया है कि वह अपने प्रदर्शन से संतुष्ट नहीं है, और वह जारी रणजी ट्रॉफी 2021/22 में और भी बेहतर कर सकते है।

पृथ्वी शॉ ने स्पोर्टस्टार के हवाले से कहा, “मैं अपने प्रदर्शन से वास्तव में खुश नहीं हूं, और बेहतर होना चाहिए था। आप जानते हैं कि क्रिकेट में 40 और 50 रन कुछ भी नहीं है। लेकिन मुझे लगता है कि यह ठीक है। मैं अच्छी बल्लेबाजी कर रहा हूं और महसूस कर रहा हूं कि कुछ खास होने वाला है।”

आपको बता दें, आने वाले महीने पृथ्वी शॉ के लिए व्यस्त रहने वाले हैं, क्योंकि रणजी ट्रॉफी 2021-22 के लीग चरणों के ठीक बाद वह आगामी आईपीएल 2022 में दिल्ली कैपिटल्स (DC) के लिए खेलने के लिए वापसी करेंगे। जिसके बाद युवा बल्लेबाज को एक बार फिर टी-20 मोड से रेड-बॉल क्रिकेट में वापसी करना होगा, क्योंकि जारी रणजी ट्रॉफी 2021-22 के बाकी मैच आईपीएल 2022 के बाद खेले जाएंगे।

शॉ ने अंत में कहा यह निश्चित रूप से एक लंबा ब्रेक है। लेकिन उन्हें बीच में जो समय मिलेगा उसमे कड़ी मेहनत करनी होगी जैसे मुंबई ने रणजी ट्रॉफी के लीग चरण के लिए की थी। कप्तान ने कहा वे किसी को भी हल्के में नहीं ले सकते और मुंबई टीम के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना चाहेंगे।