'मेरे अभी तक के जीवन में यह बेहद शानदार पल थे' संजू सैमसन ने राहुल द्रविड़ के साथ राजस्थान रॉयल्स में बिताए अपने समय को लेकर दिया बयान - क्रिकट्रैकर हिंदी

‘मेरे अभी तक के जीवन में यह बेहद शानदार पल थे’ संजू सैमसन ने राहुल द्रविड़ के साथ राजस्थान रॉयल्स में बिताए अपने समय को लेकर दिया बयान

उन 3 से 4 सालों में जब तक मैं उनके साथ रहा मैंने सब कुछ सीख लिया था: संजू सैमसन

Rahul Dravid & Sanju Samson (Photo Source: Twitter/Deccan Chronicle)
Rahul Dravid & Sanju Samson (Photo Source: Twitter/Deccan Chronicle)

भारतीय टीम के नायाब विकेटकीपर बल्लेबाज संजू सैमसन ने साल 2013 में इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) की राजस्थान रॉयल्स टीम की ओर से डेब्यू किया था। साल 2014 उनके नाम रहा। उन्होंने इस साल 13 पारियों में 339 रन बनाए। यही नहीं इसी साल उनको राष्ट्रीय टीम से खेलने के लिए भी बुलावा आया। साल 2016 और 2017 में संजू दिल्ली डेयरडेविल्स (अब दिल्ली कैपिटल्स) की ओर से खेले और अब वापस वो राजस्थान टीम से खेल रहे हैं। यही नहीं इस साल वो टीम के कप्तान की भूमिका निभा रहे हैं।

साल 2021 में राजस्थान के लिए सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी थे। उन्होंने 14 पारियों में 484 रन बनाए और भारतीय टीम में वापसी भी की। हाल ही के एक इंटरव्यू में उन्होंने बताया कि, साल 2013 में भारत के पूर्व बल्लेबाज राहुल द्रविड़ राजस्थान टीम के कप्तान भी थे। उन्होंने संजू सैमसन की बल्लेबाजी में बहुत मदद की।

संजू ने बताया कि ट्रायल्स में राहुल द्रविड़ को मेरी बल्लेबाजी खूब पसंद आई। उन्होंने आगे कहा कि राहुल द्रविड़ को पहले ही पता था कि मेरे अंदर काफी टैलेंट है।

सैमसन ने यूट्यूब के ‘ब्रेकफास्ट विद चैंपियंस’ शो में बताया कि, मेरी जिंदगी का सबसे अच्छा वक्त था जब मैंने दो दिन ट्रायल्स में बल्लेबाजी की। ऐसी बल्लेबाजी मैंने तब तक अपनी पूरी जिंदगी में कभी नहीं की थी। हर शॉट को मारने के बाद मेरे अंदर से आवाज आती ‘शॉट संजू’। ये मेरे लिए किसी जादू से कम नहीं था।

आज मैं जहां भी हूं राहुल सर की वजह से हूं: संजू सैमसन

संजू सैमसन ने राजस्थान की तरफ से खेलते हुए पहले कुछ मुकाबलों को याद किया जो उन्होंने 2013 में खेले थे। उन्होंने कहा जब मैं राहुल द्रविड़ के साथ बल्लेबाजी करता था तो वो मुझसे कहते थे कि पहले क्रीज में अपना समय लो और उसके बाद शॉट मारो।

मेरे पहले या दूसरे मुकाबले में मैं तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरा था। उस समय राहुल द्रविड़ क्रीज पर मौजूद थे। मुझे पता था कि मुझे सिर्फ मारना है और मैंने वैसे ही किया। पहली गेंद पर मैंने हुक मारा और गेंद चौके के लिए गई। द्रविड़ मेरे पास आए और मुझसे कहा कि, संजू थोड़ा समय लो और फिर शॉट्स मारना। लेकिन मैंने अगली ही बाउंसर गेंद पर एक और चौका मार दिया और फिर द्रविड़ ने कहा, खेलते रहो।

संजू ने आगे बताया कि राहुल 2016 में दिल्ली डेयरडेविल्स के मेंटर भी रह चुके हैं। उन 3 से 4 सालों तक उनसे मैंने कई सारे नोट लिए और बल्लेबाजी टिप्स भी ली।

मेरे साथ दिल्ली डेयरडेविल्स टीम में करुण नायर, श्रेयस अय्यर, मयंक अग्रवाल और ऋषभ पंत भी थे। उन्होंने बताया कि राहुल द्रविड़ हम सभी से कहते थे कि एक दिन तुम सब लोग भारतीय क्रिकेट टीम में जरूर खेलोगे। उन 3 से 4 सालों में जब तक मैं उनके साथ रहा मैंने काफी कुछ सीख था।