आखिर क्यों पाकिस्तान के प्रति इतनी सहानुभूति दिखा रहे हैं इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल एथर्टन? - क्रिकट्रैकर हिंदी

आखिर क्यों पाकिस्तान के प्रति इतनी सहानुभूति दिखा रहे हैं इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल एथर्टन?

भारत और पाकिस्तान के बीच आखिरी द्विपक्षीय सीरीज साल 2012 में खेली गई थी।

Michael Atherton
Michael Atherton. (Photo Source: Getty Images)

इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच हाल ही में रद्द किए गए दौरे के बीच इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल एथर्टन ने पाकिस्तान के प्रति सहानुभूति दिखाई है। एथर्टन का मानना है कि पिछले दशक में आर्थिक रूप से सबसे ज्यादा नुकसान झेलने वाले देशों में पाकिस्तान भी शामिल है। उनका कहना है कि पाकिस्तान को भारत के साथ द्विपक्षीय सीरीज नहीं खेलने से सबसे ज्यादा नुकसान हुआ है। पाकिस्तान फिलहाल यूएई से अपनी दूरी बना चुका है जिसके बाद वो अपने देश में क्रिकेट खेलने के लिए अक्सर संघर्ष करता हुआ नजर आया है।

पाकिस्तान को हुए नुकसान को लेकर एथर्टन ने अपने कॉलम में क्या लिखा ?

इस मुद्दे को लेकर एथर्टन ने द टाइम्स के लिए एक कॉलम लिखते हुए कहा कि ‘भारत के खिलाफ द्विपक्षीय सीरीज में खेलने की अक्षमता के कारण पाकिस्‍तान को पिछले दशक में करोड़ों रुपए का नुकसान हुआ। यही नहीं, करीब एक दशक तक यूएई में रहने से आर्थिक और मनोवैज्ञानिक पूंजी की महत्‍वपूर्ण मात्रा भी खर्च हुई।’

बता दें कि भारत और पाकिस्तान ने आखिरी द्विपक्षीय सीरीज साल 2012 में खेली थी। इस दौरे पर भारत में तीन वनडे और दो टी-20 इंटरनेशनल मैच खेले थे। इसके बाद से राजनीतिक कारणों के चलते दोनों टीमें बस आईसीसी टूर्नामेंट में ही खेलते हुए दिखाई देती है। दोनों टीमों के बीच अगला भिड़ंत 24 अक्टूबर को टी-20 वर्ल्ड कप में देखने को मिलेगी।

पाकिस्तान ने सबसे ज्यादा घर के बाहर मैच खेले हैं

अपने कॉलम में एथर्टन ने लिखा कि कोविड-19 के बाद पाकिस्तान ने सबसे ज्यादा घर से बाहर जाकर मैच खेले हैं और सबसे अधिक विदेशी दौरे किए हैं। इसको लेकर एथर्टन ने कहा कि “महामारी शुरू होने के बाद जब इंग्‍लैंड ने दक्षिण अफ्रीका, बांग्‍लादेश और पाकिस्‍तान दौरों से नाम वापस लिया और ऑस्‍ट्रेलिया ने घर के बाहर कोई टेस्‍ट नहीं खेला, तब पाकिस्‍तान ने विदेशी दौरे किए। याद दिला दें कि इन दिनों मेहमानों को दौरे की फीस का भुगतान नहीं किया जा रहा है। पाकिस्‍तान ने सबसे ज्‍यादा विदेशों में मैच खेले।”