बायो-बबल के नाम पर पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने खिलाड़ियों को परिवार से दूर किया - क्रिकट्रैकर हिंदी

बायो-बबल के नाम पर पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने खिलाड़ियों को परिवार से दूर किया

संक्रमण के खतरे के बीच पाकिस्तान सुपर लीग का सातवां सीजन 27 जनवरी से शुरू हो रहा है।

 

PSL trophy
PSL trophy. (Photo Source: Twitter)

एक बार फिर जोर पकड़ते कोविड-19 वायरस के प्रसार ने दुनियाभर के क्रिकेट प्रेमियों की चितांए बढ़ा दी हैं। फैंस के अलावा क्रिकेट के आयोजकों के लिए भी कोरोना का नया वैरिएंट सिरदर्द बना गया है। हाल ही में एक के बाद एक कई द्विपक्षीय सीरीजों को या तो कोविड की वजह से बीच में ही रद्द करना पड़ा है या उनकी तारीखों में परिवर्तन करना पड़ा है। ऐसा ही  संकट के बादल, 27 जनवरी से शुरू हो रही पाकिस्तान सुपर लीग (PSL) पर भी मंडरा रहा है।

कोविड-19 वायरस के प्रकोप के चलते ही पहले ही पाकिस्तान सुपर लीग के पिछले दो सीजन प्रभावित हो चुकें हैं। ऐसे में इस लीग का आयोजक पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) इस सीजन को सुरक्षित ढ़ंग से आयोजित करवाने के लिए बेहतर से बेहतर इंतजाम करने में लगा हुआ है। सुरक्षा के मद्देनजर टीमों के बायो-बबल में खिलाड़ियों के अलावा उनके परिवारों को रहने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

महामारी को मद्देनजर रखते हुए पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड मात्र दो शहरों में इस लीग का आयोजन करवा रहा है। लीग के शुरूआती 15 मैच कराची में आयोजित किए जाएंगे वहीं बचे हुए 15 मैचों को लाहौर में आयोजित किया जाएगा। पिछले सीजन के दौरान बीच टूर्नामेंट में ही कुछ खिलाड़ी कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे जिससे लीग को बीच में ही बंद करना पड़ा था।

खिलाड़ियों को नहीं होगी परिवार के साथ रहने की अनुमति

पाकिस्तान सुपर लीग की आयोजन कमेटी ने एक बैठक में फैसला लिया है कि टूर्नामेंट के दौरान खिलाड़ियों के परिवार को बायो-बबल का हिस्सा नहीं बनाया जाएगा। ना ही उन्हें परिवार के लोगों से मिलने की अनुमति दी जाएगी। इसके अलावा टीमें जिस होटल में ठहरेगीं, वहां के होटल स्टाफ को भी बायो-बबल जैसे वातावरण में रखा जाएगा।

आयोजकों ने निर्णय लिया है कि यदि कोई भी कोरोना संक्रमित पाया जाता है तो पूरे होटल स्टाफ की कोविड जांच की जाएगी। वहीं खिलाड़ियों की हर दिन कोविड की जांच की जाएगी। यदि जांच में किसी टीम के कुछ खिलाड़ी संक्रमित पाए जाते हैं तो मैच खेलने के लिए कम से कम 13 खिलाड़ियों का गैर संक्रमित होना जरूरी है।

इसके अलावा यदि टीमों के कुछ खिलाड़ी संक्रमित हो जाते हैं तो उनके बैकअप के तौर पर पीसीबी ने 25 घरेलू खिलाड़ियों का एक पूल तैयार किया है। जिन्हें पूरे टूर्नामेंट के दौरान बायो-बबल में रखा जाएगा। जरूरत पड़ने पर टीमें इन खिलाड़ियों को अपने दल में शामिल कर सकती हैं। इसके बावजूद भी यदि टूर्नामेंट स्थगित करना पड़ता है तो उसे एक हफ्ते में फिर से शुरू कर दिया जाएगा।