पहले धोनी और अब जसप्रीत बुमराह को लेकर शास्त्री ने किया हैरान करने वाला खुलासा - क्रिकट्रैकर हिंदी

पहले धोनी और अब जसप्रीत बुमराह को लेकर शास्त्री ने किया हैरान करने वाला खुलासा

2018 के दक्षिण अफ्रीका दौरे पर जसप्रीत बुमराह ने टेस्ट सीरीज में 14 विकेट लिए थे।

Jasprit Bumrah wicket
Jasprit Bumrah of India. (Photo Source: Twitter)

टीम इंडिया के पूर्व हेड कोच रवि शास्त्री ने जसप्रीत बुमराह को लेकर हैरान करने वाला बयान दिया है। उन्होंने कहा कि वह नहीं चाहते थे कि जसप्रीत बुमराह भारत में टेस्ट डेब्यू करें। शास्त्री चाहते थे कि वो दक्षिण अफ्रीका में इस फॉर्मेट का स्वाद चखें। 28 वर्षीय बुमराह ने 2016 में सीमित ओवरों के क्रिकेट में पदार्पण किया और उसके बाद उन्हें टेस्ट प्रारूप में खेलने के लिए दो सालों का इंतजार करना पड़ा।

हालांकि जिस सीरीज में बुमराह ने टेस्ट डेब्यू किया वहां भारतीय टीम का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा और भारत को 1-2 से सीरीज गंवाना पड़ा। केपटाउन और सेंचुरियन में हारने के बाद मेहमान टीम ने जोहान्सबर्ग टेस्ट में जीत हासिल की। हालांकि, बुमराह को दक्षिण अफ्रीका में टेस्ट डेब्यू करने देने के लिए शास्त्री का फैसला हर तरीके से सही साबित हुआ।

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ उस सीरीज में बुमराह ने शानदार प्रदर्शन किया और एक पांच विकेट हॉल लेने के साथ तीन मैचों में 14 विकेट के साथ सीरीज के दूसरे सबसे अधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज बने। शास्त्री, जिन्होंने चार महीने पहले ही भारत के मुख्य कोच के रूप में पदभार संभाला था, वो बुमराह के टेस्ट क्रिकेट की शुरुआत से बेहद प्रभावित हुए।

बुमराह को लेकर रवि शास्त्री ने क्या कहा ?

स्टार स्पोर्ट्स के शो में बात करते हुए रवि शास्त्री ने कहा कि, “वह जानता था। भरत अरुण ने उन्हें फोन किया और बताया कि तैयार हो जाओ। हो सकता है कि आपको बस कॉल अप मिले। मैंने विराट से बात की, चयनकर्ताओं से बात की। मैंने कहा भारत में नहीं… उसे भारत में 15 में भी मत लाना। उसे आप सीधे दक्षिण अफ्रीका में केपटाउन टेस्ट में मौका दें।”

टेस्ट क्रिकेट में बुमराह ने अब तक 24 टेस्ट मैच खेले हैं जिसमें उन्होंने कुल 101 विकेट झटके हैं। इस फॉर्मेट में उनके नाम एक हैट्रिक भी मौजूद हैं जो उन्होंने साल 2019 में वेस्टइंडीज के खिलाफ जमैका में लिया था। इरफान पठान और हरभजन सिंह के बाद वह इस फॉर्मेट में हैट्रिक लेने वाले तीसरे भारतीय हैं।