बुक लॉन्च इवेंट में शामिल होने पर कोच रवि शास्त्री और विराट कोहली से सफाई मांग सकती है BCCI - क्रिकट्रैकर हिंदी

बुक लॉन्च इवेंट में शामिल होने पर कोच रवि शास्त्री और विराट कोहली से सफाई मांग सकती है BCCI

रवि शास्त्री के अलावा भरत अरुण और आर श्रीधर भी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं।

Virat Kohli and Ravi Shastri, (Photo Source: BCCI)
Virat Kohli and Ravi Shastri, (Photo Source: BCCI)

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के अधिकारी इंग्लैंड में मुख्य कोच रवि शास्त्री के कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद काफी नाराज बताए जा रहे हैं। 59 साल के रवि शास्त्री सीरीज के चौथे टेस्ट मैच के शुरू होने से पहले पिछले हफ्ते लंदन में बुक लॉन्च इवेंट में शामिल हुए थे। जिसके बाद ओवल टेस्ट मैच के तीसरे दिन जब अचानक उनका कोरोना टेस्ट किया गया तो वह पॉजिटिव पाया गया था। अब रवि शास्त्री सीरीज के आखिरी टेस्ट मैच में टीम के साथ नहीं जुड़ पायेंगे।

मुख्य कोच रवि शास्त्री के अलावा टीम के सपोर्ट स्टाफ के सदस्य नितिन पटेल, भरत अरुण और आर. श्रीधर को भी आइसोलेशन में रहने का आदेश दिया गया है। जिसमें आर श्रीधर और भरत अरुण की कोरोना रिपोर्ट भी पॉजिटिव पाई गई है, वहीं पटेल को अगले आदेश तक आइसोलेशन में रहना होगा।

कोचिंग स्टाफ के यह 3 लोग अब इंग्लैंड के खिलाफ मैनचेस्टर के मैदान में होने वाले सीरीज के आखिरी टेस्ट मैच में टीम के साथ नहीं जुड़ पायेंगे जो 10 सितंबर से खेला जाना है। इस बुक लॉन्च इवेंट में भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाड़ी भी शामिल हुए थे, लेकिन उन सभी का कोरोना टेस्ट निगेटिव पाया गया है।

इस पूरे मामले पर टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक बीसीसीआई के एक अधिकारी ने बताया कि उस इवेंट की तस्वीरें बीसीसीआई अधिकारियों के साथ शेयर की गई हैं। अब बोर्ड इस मामले की जांच करेगा। इस घटना से बोर्ड शर्मिंदा हुआ है। कोच और कप्तान से इस बारे में सवाल किए जाएंगे। टीम के एडमिनिस्ट्रेटिव मैनेजर गिरीश डोंगरे की भूमिका भी सवालों के घेरे में है।

इंग्लैंड बोर्ड के लगातार संपर्क में बीसीसीआई

अब बीसीसीआई इस समय इंग्लैंड और वेल्स क्रिकेट बोर्ड से इस मामले में पूरी तरह से संपर्क बनाए हुए है, ताकि सीरीज का आखिरी टेस्ट मैच तय कार्यक्रम के अनुसार खेला जा सके। वहीं इस मामले को लेकर टी-20 वर्ल्ड कप के लिए होने वाली टीम चयन मीटिंग के दौरान चर्चा किए जाने की संभावना जताई जा रही है।

इस टेस्ट सीरीज के शुरू होने से पहले बीसीसीआई सेक्रेट्री जय शाह ने टीम के सभी सदस्यों को लिखित तौर पर समझाया था कि महामारी को ध्यान में रखते हुए वह दौरे के दौरान भीड़ वाली जगहों पर जाने से बचें लेकिन टीम का व्यवहार उस तरह से देखने को नहीं मिल सका है।