रिपोर्ट: संदीप लामिछाने को नहीं ढूंढ पा रही है नेपाल पुलिस, अब 'इंटरपोल' से मांगी मदद - क्रिकट्रैकर हिंदी

रिपोर्ट: संदीप लामिछाने को नहीं ढूंढ पा रही है नेपाल पुलिस, अब ‘इंटरपोल’ से मांगी मदद

अनुमान लगाया जा रहा है कि संदीप लामिछाने इस समय वेस्टइंडीज में ही हैं क्योंकि वो आखिरी बार इसी देश की लीग CPL में खेलने गए थे।

Sandeep Lamichhane
Sandeep Lamichhane. (Photo by Michael Dodge/Getty Images)

संदीप लामिछाने के केस ने एक और मोड़ ले लिया है। नेपाल पुलिस ने अब देश के कप्तान का पता लगाने के लिए इंटरपोल से मदद मांगी है, जो अरेस्ट वारंट जारी होने के बाद से लापता है। बता दें, 17 वर्षीय एक लड़की ने नेपाल क्रिकेट टीम के कप्तान के ऊपर दुष्कर्म का आरोप लगाया था जिसके बाद नेपाल के अदालत ने इस महीने की शुरुआत में लामिछाने को गिरफ्तार करने का आदेश जारी किया था।

ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है कि संदीप लामिछाने इस समय कैरेबिया में ही हैं क्योंकि वो आखिरी बार इसी देश की लीग CPL में खेलने गए थे। नेपाली पुलिस के प्रवक्ता टेक प्रसाद राय के अनुसार, इंटरपोल ने रविवार को उसके खिलाफ एक ‘डिफ्यूजन’ नोटिस जारी किया, जिसमें उसकी पहचान करने में बाकी देशों की सहायता का अनुरोध किया गया।

राय ने कहा कि, ‘हमें उम्मीद है कि इससे लामिछाने के खिलाफ दुष्कर्म के आरोप की शिकायत के मामले की जांच के लिए उनकी गिरफ्तारी में मदद मिलेगी।’

रविवार (25 सितंबर) को सोशल मीडिया पर लामिछाने ने आरोपों को गलत साबित करने के लिए जल्द से जल्द घर वापस जाने का वादा किया। 22 वर्षीय खिलाड़ी ने फेसबुक पर लिखा कि वह अपने शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के कारण आइसोलेशन में थे और यह भी कहा कि, ‘गिरफ्तारी वारंट ने उन्हें मानसिक रूप से परेशान कर दिया था।’ हालांकि उन्होंने यह नहीं बताया कि वो इस समय कहा हैं।

बता दें, IPL 2018 सत्र में संदीप लामिछाने ने दिल्ली कैपिटल्स टीम का हिस्से थे और उसके बाद से ही वो नेपाल क्रिकेट में तमाम लोगों के आदर्श बन गए थे।

इन सब चीजों ने मुझे मानसिक रूप से प्रभावित किया है: संदीप लामिछाने

पुलिस वारंट के जारी होने के बाद उन्हें टीम की कप्तानी से भी हटा दिया गया था, यही नहीं उन्होंने कैरीबियन प्रीमीयर लीग (CPL) से भी अपना नाम वापस ले लिया। पुलिस ने हालिया वित्तीय वर्ष के दौरान नेपाल में दुष्कर्म की 2300 घटनाएं दर्ज की लेकिन मानवाधिकार अधिवक्ताओं का मानना है कि कई और भी लोगों की रिपोर्ट दर्ज नहीं की गई है।

अपना बचाव करते हुए संदीप लामिछाने ने कहा कि, ‘मेरे ऊपर झूठे आरोप लगाए गए हैं और इन आरोपों की वजह से मैं मानसिक और शारीरिक रूप से प्रभावित हुआ हूं। डॉक्टरों की सलाह से मुझे सामान्य स्थिति में लाया गया है मेरे स्वास्थ्य में धीरे-धीरे सुधार हो रहा है।

मेरे ऊपर जो भी आरोप लगे वह सब झूठे हैं। मैं जल्द से जल्द इन आरोपों को खारिज करने के लिए नेपाल लौटूंगा। इन सब चीजों ने मुझे मानसिक रूप से प्रभावित किया है। वहीं इस वजह से मुझे शारीरिक बीमारी से गुजरना पड़ा इसलिए मैंने खुद को कुछ समय के लिए आइसोलेशन में रखने का फैसला किया।’