केपटाउन टेस्ट मैच में DRS के फैसले को लेकर मैदान पर नाराजगी जताने पर भारतीय खिलाड़ियों पर क्या नहीं लगेगा औपचारिक तौर पर कोई जुर्मना - क्रिकट्रैकर हिंदी

केपटाउन टेस्ट मैच में DRS के फैसले को लेकर मैदान पर नाराजगी जताने पर भारतीय खिलाड़ियों पर क्या नहीं लगेगा औपचारिक तौर पर कोई जुर्मना

दरअसल साउथ अफ्रीकी कप्तान डीन एल्गर के LBW के DRS के फैसले को लेकर भारतीय खिलाड़ियों ने मैदान पर अपनी नाराजगी को व्यक्त किया था।

Indian cricket team. (Photo by Grant Pitcher/Gallo Images/Getty Images)
Indian cricket team. (Photo by Grant Pitcher/Gallo Images/Getty Images)

साउथ अफ्रीका और भारत के बीच में खेली जा रही 3 मैचों की टेस्ट सीरीज का अंत न्यूलैंड्स के केपटाउन मैदान में मेजबान अफ्रीकी टीम की 7 विकेट से जीत के साथ हो गया। जिसके बाद यह टेस्ट सीरीज भी साउथ अफ्रीका टीम ने 2-1 से अपने नाम करने में कामयाबी हासिल की। लेकिन केपटाउन टेस्ट मैच में DRS को लेकर एक नया विवाद भी तीसरे दिन के आखिरी सत्र के खेल के दौरान देखने को मिला।

दरअसल साउथ अफ्रीकी कप्तान डीन एल्गर के खिलाफ हुई एक LBW अपील में अंपायर मरे इरास्मस ने उन्हें आउट करार दे दिया। जिसके बाद एल्गर ने DRS लेने का फैसला किया और रिप्ले जब दिखाया गया कि गेंद स्टम्प के ऊपर से जा रही है, तो इसे देखकर अंपायर सहित भारतीय खिलाड़ी भी काफी हैरानी में साफतौर पर देखे गए।

जिसके बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली का गुस्सा जैसे 7वें आसमान पर चला गया और वह उसके बाद लगातार जुबानी हमले भी देखने को मिले। जिसमें कोहली ने स्टम्प माइक पर जाकर ब्रॉडकास्टर तक नहीं छोड़ा।

भारतीय टीम ने सुपरस्पोर्ट पर पक्षपातपूर्ण रवैये का आरोप

डीन एल्गर को जहां DRS के जरिए एक नया जीवनदान मिला वहीं गेंदबाज रविचंद्रन अश्विन भी अपने गुस्से को नहीं रोक सके। जिसमें उन्होंने स्टम्प माइक के पास जाकर ब्रॉडकास्टर सुपरस्पोर्ट को लेकर कहा कि, उन्हें जीत हासिल करने के लिए कोई नया तरीका ढूंढना चाहिए। हालांकि भारतीय खिलाड़ियों के इस रवैये को लेकर काफी आलोचना भी उसके बाद लगातार देखने को मिल रही है।

लेकिन इस मैच में ICC मैच अधिकारियों ने इस घटना को लेकर भारतीय टीम पर किसी तरह के एक्शन को अभी तक नहीं लिया है। जिसको लेकर ईएसपीएन क्रिकइंफों में छपी एक रिपोर्ट के अनुसार मैच ऑफीशियल्स ने इस घटना को लेकर भारतीय टीम मैनेजमैंट से नियमों को लेकर बात जरूर की है। जिसमें भारतीय कप्तान विराट कोहली भी इस बातचीत का हिस्सा था, जिसमें मेहमान टीम के किसी खिलाड़ी पर किसी तरह का कोई आरोप नहीं लगा है।