in

धर्मशाला में धराशायी हुई भारतीय बल्लेबाजी पर कप्तान रोहित बोले-आँखे खुल गयी

जिससे टीम का स्कोर महज 29 रन पर 7 विकेट जा पंहुचा उस वक़्त केवल महेंद्र सिंह धोनी ही मोर्चा संभाले हुए थे और बाकी सभी बल्लेबाज पवेलियन जा चुके थे।

Rohit Sharma
Rohit Sharma. (Photo Source: Twitter)

धर्मशाला में श्रीलंका के खिलाफ शुरू हुई 3 वनडे मैचो की सीरीज का श्री गणेश भारतीय टीम के लिये बेहद ही शर्मनाक रहा। जिसमे सभी भारतीय बल्लेबाज ताश के पत्ते की तरह बिखरते चले गये और इस तरह श्रीलंका की हार का सूखा खत्म हुआ। लंका ने 50 ओवर के मैच को महज 20 ओवेरों में ही खत्म कर दिया।

विराट कोहली की अनुपस्तिथि में चुने गये नए भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने निराशा जताते हुए कहा- “हमारी बल्लेबाजी अच्छी नहीं थी। अगर स्कोरबोर्ड पर 70-80 रन और होते तो हालात अलग होते। यह मैच हमारे लिए आंखें खोलने वाला है।”

धर्मशाल मैच की कहानी

मैच में श्रीलंका ने टॉस जीत कर पिच के मिजाज़ को देखतें हुए पहले गेंदबाजी का निर्णय लिया। जिसके बाद लंका के गेंदबाजों ने कहर बरपाते हुए एक के बाद एक भारतीय बल्लेबाजो को अपना शिकार बनाना शुरू किया। जिससे टीम का स्कोर महज 29 रन पर 7 विकेट जा पंहुचा उस वक़्त केवल महेंद्र सिंह धोनी ही मोर्चा संभाले हुए थे और बाकी सभी बल्लेबाज पवेलियन जा चुके थे।

धोनी ने इस कठिन समय पर झुझारू 65 रनों की पारी खेली और भारत ने अपनी साख बचाते हुए कुल 112 रन बनाये।श्रीलंका ने बड़ी आसानी से इस छोटे से लक्ष्य को 20.4 ओवरों में हासिल किया तथा तीन मैचो की सीरीज में 1-0 की बढत भी ले ली। 

धोनी के प्रयास से कोई हैरानी नहीं

धोनी की पारी की तारीफ करते हुए रोहित शर्मा ने कहा- ‘‘वह जानते हैं कि इन परिस्थितियों में क्या करना है. मुझे कोई हैरानी नहीं. अगर उनका साथ देने वाला कोई और होता तो इससे बड़ा अंतर पैदा होता. जब हम गेंदबाजी कर रहे थे तब भी पिच से कुछ मदद मिल रही थी लेकिन 112 रन पर्याप्त नहीं थे. ’

वही आपको बता दे की बतौर भारतीय कप्तान रोहित का पहला मैच था। जिसमे उनकी टीम को बुरी तरह हार मिली। इस पर उन्होंने अपनी कप्तानी के अनुभव के बारे में कहा- ‘‘बहुत अच्छा अनुभव नहीं रहा. कोई भी मैच नहीं हारना चाहता. हमें अब अगले दो मैचों पर ध्यान केंद्रित करके अच्छी वापसी करनी होगी.’’

दूसरी ओर श्रीलंका के कप्तान तिसारा परेरा भी अपने पहले मैच में कप्तानी कर रहे थे, जिसमे बड़ी जीत दर्ज करने के बाद उन्होंने कहा- ‘‘पहले हमें अपने गेंदबाजों को 200 प्रतिशत श्रेय देना होगा. उन्होंने हमारे लिये सब कुछ सही किया. सही लेंथ से सही क्षेत्र में गेंदबाजी की. ’’

अफ्रीका जाने से पहले ही खुल गयी पोल

आपको बता दे की अगले माह भारतीय टीम को दक्षिण अफ्रीका दौरे पर जाना है जहाँ उनका सामना धर्मशाला जैसी ही तेज़ और उछाल प्रदान करने वाली पिचों से होना है जिसके चलते आज भारतीय टीम के बल्लेबाजो की कलई खुल गयी और सभी पतझड़ की तरह बिखर गये। शायद इसी कारण की वजह से कप्तान रोहित ने मिली इस हार को बल्लेबाजों के लिए आँख खोल देने वाली हार बताया।

लेखक- शुभम पाण्डे

MS Dhoni and Hardik Pandya

पहले वनडे में भारतीय टीम के हारने की ये 5 वजह

Android-Cricket-games

क्रिकेट के टॉप 5 एंड्रॉयड गेम, जिसे करोड़ो लोग हर रोज खेलते है