हेडिंग्ले टेस्ट मैच के दौरान क्यों एक विमान 'SACK THE ECB AND SAVE THE TEST CRICKET' बैनर के साथ उड़ रहा था? - क्रिकट्रैकर हिंदी

हेडिंग्ले टेस्ट मैच के दौरान क्यों एक विमान ‘SACK THE ECB AND SAVE THE TEST CRICKET’ बैनर के साथ उड़ रहा था?

हेडिंग्ले में खेला जा रहा है इंग्लैंड और भारत के बीच तीसरा टेस्ट मैच

A plane with banner “sack ECB and save Test cricket” spotted on Day 3 of Headingley Test. (Photo Source: Twitter)
A plane with banner “sack ECB and save Test cricket” spotted on Day 3 of Headingley Test. (Photo Source: Twitter)

इंग्लैंड और भारत के बीच लीड्स में खेले जा रहे तीसरे टेस्ट मैच के दौरान हेडिंग्ले के मैदान के ऊपर से एक विमान उड़ता हुआ दिखा जिसके पिछले हिस्से पर लिखा था “SACK THE ECB AND SAVE THE TEST CRICKET”।  हाल ही में इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिक्रेट बोर्ड ने द हंड्रेड के पहले सीजन का आयोजन करवाया था जिसके बाद ईसीबी कई क्रिकेट पंडित और एक्सपर्ट के नजरों में आ गए थे। एक्सपर्ट का मानना है कि द हंड्रेड की वजह से इंग्लैंड के काउंटी चैंपियनशिप पर असर पड़ा है।

छोटे फॉर्मेट की वजह से घटता जा रहा है काउंटी का महत्व

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान केविन पीटरसन भी इस मुद्दे को लेकर बोल चुके हैं। उनका मानना है कि इंग्लैंड की टीम लंबे फॉर्मेट में संघर्ष कर रही है और इसके पीछे मुख्य वजह है कि इंग्लैंड में काउंटी का महत्व घटते जा रहा है और छोटे फॉर्मेट के खेल को ज्यादा महत्व दिया जा रहा है। यहां तक कुछ विशेषज्ञ ये भी सवाल उठा चुके हैं कि क्रिक्रेट में टी-20 के बाद इस फॉर्मेट की क्या जरूरत है।

कई खिलाड़ियों ने काउंटी छोड़ द हंड्रेड में खेलने का फैसला किया

हालांकि, ECB ने द हंड्रेड टूर्नामेंट को सफल बनाने के लिए हर संभव प्रयास किया। इसके बाद द हंड्रेड टूर्नामेंट और काउंटी टूर्नामेंट एक साथ खेला गया। इस दौरान काउंटी क्रिकेट खेलने वाले खिलाड़ियों ने अपनी टीम का साथ छोड़ द हंड्रेड टूर्नामेंट खेलने के लिए उत्सुक दिखे। इस वजह से सदियों से चली आ रही काउंटी क्रिकेट पर काफी असर देखने को मिला।

हालांकि, इस दौरान कई लोगों ने ईसीबी की तारीफ इस वजह से की क्योंकि बोर्ड ने अपने सभी मैच तय समय पर खत्म करवा दिए लेकिन जब बोर्ड को घरेलू काउंटी क्रिकेट का शेड्यूल आगे बढ़ाने के लिए कहा गया तो वहां ईसीबी अपनी बातों पर अडिग रहा और उसने काउंटी टूर्नामेंट के तरीकों में कोई बदलाव नहीं किया। काउंटी क्रिक्रेट की महत्व काम होते देख एक आलोचक इस हद तक पहुंच गया कि वो उसने ECB को बर्खास्त करने की मांग करने लगा।

यहां देखिए वो ट्वीट