पाकिस्तान का हर बच्चा वरुण जैसी मिस्ट्री गेंदबाजी करता है: सलमान बट - क्रिकट्रैकर हिंदी

पाकिस्तान का हर बच्चा वरुण जैसी मिस्ट्री गेंदबाजी करता है: सलमान बट

मुझे नहीं लगता है कि भारत अब कभी वरुण को पाकिस्तान के खिलाफ मैदान पर उतारेगा: सलमान बट

 Salman Butt and Varun Chakravarthy (Photo Source: getty and google images)
Salman Butt and Varun Chakravarthy (Photo Source: getty and google images)

टी-20 वर्ल्ड कप में भारत के खिलाफ मिली पहली जीत पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटरों को हजम नहीं हो रही है। जीत के बाद अपनी टीम की तारीफ करने तक तो ठीक है, लेकिन अब उनके पूर्व कप्तान सलमान बट ने वरुण चक्रवर्ती की गेंदबाजी पर ही सवाल खड़े कर दिए हैं। बट का मानना है कि वरुण जैसे मिस्ट्री गेंदबाजों को पाकिस्तान के बच्चे गलियों में हर रोज खेलते हैं।

वरुण को टी-20 वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के खिलाफ विराट कोहली का तुरुप का इक्का माना जा रहा था। ऐसा इसलिए क्योंकि अब तक किसी भी पाकिस्तानी बल्लेबाज ने उनका सामना नहीं किया था और उम्मीद की जा रही थी कि वह इस मैच में अच्छा प्रदर्शन करेंगे। हालांकि, यह मिस्ट्री गेंदबाज अपनी घूमती हुई गेंदों से इस बड़े मैच में कुछ खास कमाल नहीं दिखा सका।

वरुण चक्रवर्ती को लेकर सलमान बट ने क्या कहा?

सलमान बट ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा, “वरुण चक्रवर्ती मिस्ट्री गेंदबाज होंगे, लेकिन उन्होंने हमें कहीं से भी अचंभित नहीं किया। बच्चे पाकिस्तान में काफी टैप बॉल क्रिकेट खेलते हैं, जहां गेंदबाज उंगलियों का इस्तेमाल करते हुए अपनी गेंदबाजी में कई तरह की विविधिता लाता है।” सलमान बट ने अपनी बातचीत में श्रीलंका के मिस्ट्री स्पिनर अजंता मेंडिस की भी बात की। उनका मानना है कि मेंडिस ने शुरुआत में दुनियाभर के बल्लेबाजों को नचाया लेकिन पाकिस्तान के खिलाफ उनका रिकॉर्ड खराब ही रहा।

भारत अब वरुण को पाकिस्तान के खिलाफ नहीं उतारेगा: बट

सलमान बट का मानना है कि अगर भारत ने इस हार से कुछ सबक लिया होगा तो अब वो शायद ही पाकिस्तान के खिलाफ कभी भी वरुण चक्रवर्ती को टीम में शामिल करने का सोचेंगे। उन्होंने कहा, “अगर वह ऐसे करते हैं तो उन्हें इसी प्रकार का नतीजा मिलेगा। वरुण जैसे कोई भी गेंदबाज को पाकिस्तान के बल्लेबाज आसानी पढ़ लेते हैं। जो भी भारत का विश्लेषक है, उन्हें पता होना चाहिए कि मेंडिस जैसे मिस्ट्री गेंदबाज भी पाकिस्तान के सामने सफल नहीं हो पाए थे।”