'हमारे देश के तेज गेंदबाज जानवर खाकर वैसे ही बन गए हैं'- भारतीय पेस अटैक से तुलना पर शोएब अख्तर - क्रिकट्रैकर हिंदी

‘हमारे देश के तेज गेंदबाज जानवर खाकर वैसे ही बन गए हैं’- भारतीय पेस अटैक से तुलना पर शोएब अख्तर

शोएब अख्तर ने बताया कि किस वजह दोनों देशों के गेंदबाजों में इतना अंतर है।

Shoaib Akhtar
Shoaib Akhtar. (Photo Source: Facebook)

क्रिकेट में पाकिस्तान हमेशा से तेज गेंदबाज को बनाने के लिए जाना जाता है। पाक टीम के बुरे से बुरे दौर में भी तेज गेंदबाजों की कोई कमी नहीं रही। वर्तमान में भी इस टीम में हसन अली और शाहीन अफरीदी जैसे लाजवाब तेज गेंदबाज मौजूद हैं। वहीं इससे पहले देश के पास इमरान ख़ान, वसीम अकरम, शोएब अख्तर, मोहम्मद आमिर, जैसे गेंदबाज रहे थे, जिन्होंने वर्ल्ड क्रिकेट पर अपना दबदबा बनाया था।

शोएब अख्तर ने पाकिस्तान में एक से एक धाकड़ तेज गेंदबाज आने के पीछे कुछ तर्क दिए हैं। हाल ही में उन्होंने एक बड़ा बयान देते हुए बताया है कि आजकल भारत अच्छे तेज गेंदबाज पैदा कर रहा है, लेकिन कुछ ऐसा है जिसकी उनके पास कमी है। उसी पर और स्पष्टीकरण देते हुए, पूर्व तेज गेंदबाज ने उल्लेख किया कि भारतीय तेज गेंदबाजों में आक्रामकता की कमी है।

जब पेसरों की बात आती है तो भारत और पाकिस्तान में अंतर है: शोएब अख्तर

शोएब अख्तर ने ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज ब्रेट ली के साथ एक बातचीत के दौरान कहा कि, “पाकिस्तान और भारत में अंतर है। भारतीय अच्छे तेज गेंदबाज पैदा कर रहे हैं, लेकिन उनमें जो कमी है वह है दुर्लभ ऊर्जा – आपके चेहरे पर वह गुस्सा, वह रवैया जहां आप बल्लेबाज के ऊपर आक्रमकता के साथ हावी होने को देखते हैं।”

अख्तर ने आगे कहा कि, “पाकिस्तान में ज्यादा तेज गेंदबाजों के आने के पीछे यहां के खान-पान, पर्यावरण और दृष्टिकोण जैसे फैक्टर काम करते हैं। इसके साथ ही यहां मेरे जैसे लोग हैं जो ऊर्जा से भरपूर हैं। हमें तेज गेंदबाजी करने में खुशी मिलती है। फिर आप वही बनते हैं जो आप खाते हैं। मेरा देश बहुत सारे जानवर खाता है और हम जानवरों की तरह बन जाते हैं। जब तेज गेंदबाजी की बात आती है तो हम शेरों की तरह दौड़ते हैं।”

अख्तर और ब्रेट ली एक वक्त में तेज गेंदबाजी के लिए मशहूर रहे हैं। हाल ही में दोनों क्रिकेटर्स ओमान में खेली गई लीजेंड्स क्रिकट लीग का हिस्सा थे। ब्रेट ली वर्ल्ड जायंट्स की ओर से खेल रहे थे, वहीं, शोएब अख्तर एशिया लाइंस का हिस्सा थे। इस लीग में फाइनल मुकाबले में वर्ल्ड जायंट्स ने एशिया लाइंस को हराकर ट्रॉफी अपने नाम की थी। इस लीग में भारत की टीम ‘इंडिया महाराजा भी थी लेकिन वो फ़ाइनल में नहीं पहुंच सके थे।