पाकिस्तान की 2009 टी-20 वर्ल्ड कप खिताब जीतने की यादों को ताजा करना चाहता हूं: शोएब मलिक - क्रिकट्रैकर हिंदी

पाकिस्तान की 2009 टी-20 वर्ल्ड कप खिताब जीतने की यादों को ताजा करना चाहता हूं: शोएब मलिक

शोएब मलिक इस टी-20 वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के सबसे अनुभवी खिलाड़ियों में से एक हैं।

Shoaib Malik
Shoaib Malik. (Photo Source: Twitter)

मौजूदा टी-20 वर्ल्ड कप शुरू होने से पहले कई दिग्गजों ने इस टूर्नामेंट को जीतने के लिए पाकिस्तान की गिनती फेवरेट्स में नहीं की थी लेकिन जिस तरह से पाकिस्तान ने अपने अभियान की शुरुआत की है, सभी को अपने बारे में सोचने पर मजबूर किया है। टीम में मौजूद शोएब मलिक एकमात्र ऐसे खिलाड़ी हैं जो 2007 में खेले गए पहले टी-20 वर्ल्ड कप और 2009 में चैंपियन बनी पाकिस्तान टीम का हिस्सा थे।

हाल ही में टी-20 वर्ल्ड कप खिताब की जीत को लेकर शोएब मलिक ने ICC के साथ एक इंटरव्यू में खुलकर बात की। उन्होंने कहा कि, “अगर मैं खुद को 2009 में ले जाऊं तो हम उस टूर्नामेंट की शरुआत में संघर्ष कर रहे थे। लेकिन जैसे-तैसे हम टूर्नामेंट में आगे बढ़े, हमने जीत की लय प्राप्त की। शाहिद अफरीदी, उमर गुल और मैंने अच्छा फॉर्म प्राप्त किया और लगातर प्रदर्शन करना शुरू किया।”

2009 जीत के लम्हें को एक बार फिर से जीना चाहता हूं: शोएब मलिक

2009 में ट्रॉफी जीतने की यादें ताजा करते हुए शोएब मलिक ने कहा, “वो जीत एक बेहतरीन याद है। मुझे लगता है कि इससे पहले कि मैंने अपना करियर समाप्त करूं, मैं उन्हीं यादों से फिर से जीना चाहता हूं। जब कोई यही सोच रहा है कि टूर्नामेंट जीत सकते हैं और खिलाड़ी अच्छा प्रदर्शन करना शुरू कर देते हैं, मैं इसे एक चुनौती के रूप में लेता हूं और यह चीज मैंने ड्रेसिंग रूम में भी देखा है। अंडरडॉग होना अच्छी बात है क्योंकि इस दौरान आपके ऊपर कोई दबाव नहीं होता है और आप बस मैदान पर जाकर अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर सकते हैं।”

मौजूदा टी-20 वर्ल्ड कप में शोएब मलिक को कुछ ज्यादा मौके नहीं मिले हैं लेकिन न्यूजीलैंड के खिलाफ मैच में उनकी 20 गेंदों में 26 रनों की पारी ने टीम को मुश्किल से बाहर निकाला था और अंत में टीम को जीत दिलाई थी। उन्होंने उस मैच में आसिफ अली के साथ 48 रनों की अहम साझेदारी की थी।