रोहित शर्मा की सबसे बड़ी मजबूती बनी कमजोरी, अब सुनील गावस्कर ने कप्तान को दी खास सलाह - क्रिकट्रैकर हिंदी

रोहित शर्मा की सबसे बड़ी मजबूती बनी कमजोरी, अब सुनील गावस्कर ने कप्तान को दी खास सलाह

सुनील गावस्कर ने श्रीलंका के खिलाफ डे-नाईट टेस्ट से पहले रोहित शर्मा को महत्वपूर्ण सुझाव दिया।

Rohit Sharma and Sunil Gavaskar. (Photo Source: Getty Images)
Rohit Sharma and Sunil Gavaskar. (Photo Source: Getty Images)

रोहित शर्मा बेंगलुरू में पहली बार डे-नाइट टेस्ट में भारतीय क्रिकेट टीम की कप्तानी करने के लिए तैयार हैं, और महान क्रिकेटर सुनील गावस्कर ने श्रीलंका के खिलाफ दूसरे और अंतिम टेस्ट से पहले नव नियुक्त सभी प्रारूप के कप्तान के लिए कुछ महत्वपूर्ण सलाह दी है।

भारत और श्रीलंका के बीच दूसरा और अंतिम टेस्ट मैच बेंगलुरु के एम. चिन्नास्वामी स्टेडियम में 12 मार्च से खेला जाएगा। बता दें, कप्तान रोहित शर्मा मोहाली में 28 गेंदों में 29 रन बनाकर आउट हुए थे, लेकिन भारतीय क्रिकेट टीम रवींद्र जडेजा के नाबाद 175 रनों की बदौलत 574/8 पर पारी घोषित करने में सफल रही और अंत में श्रीलंका के खिलाफ एक पारी और 222 रनों से पहला टेस्ट जीत लिया।

पुल शॉट रोहित शर्मा के सिग्नेचर शॉट्स में से एक है, लेकिन कई बार इसके चलते उन्हें अपना विकेट भी गंवाना पड़ा, और सुनील गावस्कर का मानना है कि कप्तान को अपनी पारी के शुरुआती दौर में इस शॉट को खेलने से बचाना चाहिए, या फिर इसे और अधिक सावधानी से उपयोग करना चाहिए।

पुल शॉट पर आउट होते देख सुनील गावस्कर ने रोहित शर्मा को दी अहम सलाह

मोहाली टेस्ट में श्रीलंका के लाहिरू कुमारा ने अपनी अतिरिक्त गति से रोहित शर्मा को उकसाया, और अंततः 34 वर्षीय पुल शॉट के लिए गए, लेकिन वह अपने पसंदीदा शॉट को अच्छी तरह खेलने के लिए सही समय नहीं निकाल पाए और अंततः अपना विकेट गवां दिया। जिस पर सुनील गावस्कर ने रोहित शर्मा को सुझाव दिया है कि अब उन्हें पसंदीदा शॉट (पुल शॉट) खेलने से पहले दो बार सोचना चाहिए, क्योंकि गेंदबाज अब उन्हें शॉर्ट डिलीवरी के साथ आउट करना चाहते हैं।

स्टार स्पोर्ट्स से बात करते हुए सुनील गावस्कर ने कहा: “रोहित शर्मा को पुल शॉट के बारे में सोचना होगा। यह एक उत्पादक शॉट है, लेकिन उनके पास यहीं एकमात्र शॉट नहीं है। उसके पास और भी बहुत अच्छे-अच्छे शॉट्स है। अब हर गेंदबाज जिसके पास थोड़ी सी गति है, रोहित शर्मा के खिलाफ अपने मौके की कल्पना करेगा, ‘मुझे एक-दो छक्के या चौके लगाने से कोई फर्क नहीं पड़ता, लेकिन मेरे पास एक मौका होगा उसे बर्खास्त करने का जब वह गेंद को हवा में मरेगा’, जो कप्तान करता है।”

भारत के दिग्गज बल्लेबाज ने अंत में कहा रोहित शर्मा को अब पुल शॉट में सफल होने के प्रतिशत पर ध्यान देने की जरूरत है। अगर उसे लगता है कि वह सफल हो रहा है तो वह इसे खेल सकता है, लेकिन अभी यह उसके पक्ष में काम नहीं कर रहा है। इसलिए उसे इस शॉट को ठंडे बस्ते में रखना चाहिए, जब तक वह 80,90 या फिर 100 रन तक नहीं पहुंच जाए।