रोहित शर्मा ने की रविचंद्रन अश्विन की तारीफ- बोले कप्तान के लिए वह हमेशा आक्रामक विकल्प हैं - क्रिकट्रैकर हिंदी

रोहित शर्मा ने की रविचंद्रन अश्विन की तारीफ- बोले कप्तान के लिए वह हमेशा आक्रामक विकल्प हैं

टी-20 वर्ल्ड कप के लिए अश्विन को भारतीय टीम में शामिल किया गया था।

Ravi Ashwin and Rohit Sharma. (Photo Source: Getty Images)
Ravi Ashwin and Rohit Sharma. (Photo Source: Getty Images)

2021 रविचंद्रन अश्विन के लिए काफी शानदार रहा है। उन्होंने साल की शुरुआत ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज से की और फिर इंग्लैंड के खिलाफ घर में कुछ शानदार किया था। उनसे इंग्लैंड में खेलने की उम्मीद की गई थी, लेकिन उन्हें वहां मौका नहीं मिला जिसे देख कई प्रशंसक और विशेषज्ञ हैरान हुए थे। हालांकि उसके बाद, उन्होंने भारतीय टी-20 टीम में वापसी कर सबको चौंका दिया था।

तमिलनाडु के ऑफ स्पिनर ने 2017 के बाद से भारत के लिए एक भी सफेद गेंद का मैच नहीं खेला था। उन्हें टी-20 वर्ल्ड कप के लिए टीम में नामित किया गया था और जब से वह प्लेइंग इलेवन में लौटे हैं, गेंद के साथ उनका फॉर्म शानदार रहा है। उन्होंने पांच मैचों में नौ विकेट लिए। इसी बीच कप्तान रोहित शर्मा ने कहा है कि अश्विन हमेशा भारतीय टीम के लिए एक आक्रामक विकल्प है।

अश्विन की तारीफ में रोहित शर्मा ने क्या कहा ?

रोहित ने अनुभवी स्पिनर की तारीफ करते हुए कहा कि, “उनकी तरफ से शानदार वापसी हुई है। हम सभी जानते हैं कि वह एक बेहतरीन गेंदबाज हैं। उन्होंने पिछले कुछ वर्षों में लाल गेंद से खुद को साबित किया है और यहां तक ​​कि सफेद गेंद वाले क्रिकेट में भी उनका रिकॉर्ड खराब नहीं है। अब जिस तरह से उन्होंने वापसी की है और यूएई में गेंदबाजी की है, यह दिखाता है कि उनके पास कितनी काबिलियत है।”

कप्तान ने आगे बताया कि किस तरह से अश्विन को टी-20 क्रिकेट में इस्तेमाल किया जा सकता है। अश्विन को सफेद गेंद वाले क्रिकेट से बाहर करने का मुख्य कारण यह था कि वह बीच के ओवरों में नियमित विकेट नहीं ले पा रहे थे। हालांकि, वापसी करने के बाद से अनुभवी स्पिनर ने ठीक वैसा ही किया है।

इंडिया टुडे के हवाले से रोहित शर्मा ने कहा है कि, “वह हमेशा कप्तान के लिए एक आक्रामक विकल्प होते हैं। जब आपके पास टीम में उनके जैसा कोई होता है तो हमेशा बीच (ओवरों) में विकेट लेने का अवसर होता है और हम समझते हैं कि यह कितना महत्वपूर्ण है। यही वह दौर है जब आप स्कोरिंग रेट पर ब्रेक लगा सकते हैं और विकेट ले सकते हैं।”