in

बेहद रोमाचंक टेस्ट में श्रीलंका ने दक्षिण अफ्रीका को 1 विकेट से हराया, इस बल्लेबाज ने किया कमाल  

दोनों पारियों में बेहतरीन टच में था यह श्रीलंकाई बल्लेबाज

Kusal Perera (Photo by srilanka cricket/twitter)
Kusal Perera (Photo by srilanka cricket/twitter)

कुसल परेरा की जबरदस्त शतकीय पारी की मदद से श्रीलंका ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ डरबन में खेले गए पहले टेस्ट मैच में रोमांचक तरीके से 1 विकेट से शानदार जीत दर्ज की।

श्रीलंका ने इस मैच में टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया। क्वांटन डी कॉक के 80 रनों की बदौलत दक्षिण अफ्रीका ने अपनी पहली पारी में 235 रन बनाए जवाब में पहली पारी में श्रीलंका की शुरुआत बेहद खराब रही। कुशल परेरा (51) को छोड़कर कोई भी बल्लेबाज ज्यादा देर तक मैदान में नहीं टीम सका और पूरी टीम मात्र 191 रनों पर सिमट गई। पहली पारी के आधार पर दक्षिण अफ्रीका ने 44 रनों की बढ़तर हासिल की।

दूसरी पारी में फॉफ डू प्लेसिस (90) और क्वांटन डी कॉक (55) की शानदार पारियों की मदद से दक्षिण अफ्रीका ने 259 रनों का स्कोर खड़ा किया। इस तरह श्रीलंका को मैच जीतने के लिए 304 रनों का लक्ष्य मिला। जवाब में श्रीलंका ने कुशल परेरा की जुझारू शतकीय पारी की मदद से 9 विकेट खोकर विजयी लक्ष्‍य हासिल कर लिया।

कुसल ने इस तरह जिताया मैच : श्रीलंका जीत के लिए मैच की चौथी पारी में 304 रन बनाने थे और माना जा रहा था कि यह काम श्रीलंका के लिए बेहद मुश्किल होगा। इस जीत के हीरो कुसल परेरा रहे। उन्होंने श्रीलंका की दूसरी पारी में न सिर्फ नाबाद 153 रनों की जबरदस्त पारी खेली बल्कि 10वें विकेट के लिए नाबाद 78 रनों की साझेदारी भी की। हालांकि इस साझेदारी में विश्वा फर्नांडो ने केवल 6 रन बनाए लेकिन वे कुसल परेरा के साथ क्रीज़ पर जमे रहे।

कुसल ने 200 गेंदों का सामना करते हुए 12 चौके और 5 छ्क्कों की मदद से नाबाद 153 रनों की पारी खेली। उनके अलावा धनंजय डे सिल्वा ने 48 रन बनाए। उन्हें मैन ऑफ द मैच भी चुना गया।

जीत के बाद क्या बोले कुशल परेरा : कुशल परेरा ने जीत के बाद प्रेजेंटेशन सेरेमनी में कहा कि यह सामुहिक प्रयासों से मिली जीत है। खासकर निचले क्रम के बल्लेबाजों के जबरदस्त प्रदर्शन की बदौलत ही हम यह लक्ष्य हासिल कर सके। उन्होंने मुझे पूरा समर्थन दिया। मुझे खुद पर पुरा भरोसा था और मैने कर दिखाया। यह हमारे लिए विशेष जीत है।

करुणारत्ने ने इस मैच में जीत का श्रेय कुशल परेरा को देते हुए कहा कि उन्होंने इस मैच में जबरदस्त खेल दिखाया। वह टीम के सबसे अनुभवी बल्लेबाजों में से एक है और उनका यह शतक अविश्वसनीय है। दक्षिण अफ्रीका में शतक बनाना वैसे भी आसान नहीं रहता। यह एक कमाल का खेल था। यहां आने से पहले हम जानते थे कि हमारे पास एक अच्छा मौका है। 2012 में भी हम डरबन में मैच जीत चुके हैं।

Vidarbha team. (Photo Source: Twitter)

ईरानी ट्रॉफी जीतकर विदर्भ ने पुलवामा हमले में शहीद हुए जवानों के परिजनों की इस तरह की मदद

अकेले ही दक्षिण अफ्रीकी टीम पर भारी पड़ गए कुसल परेरा, मैदान में ही दक्षिण अफ्रीका के खिलाड़ी करने लगे तारीफ