in

गरीब खिलाड़ियों से बीसीसीआई ने मुंह मोड़ा

पीपुल राईट एंड सोशल रिसर्च सेंटर नाम की एक एनजीओ ने इस लीग की शुरुवात की थी

SPL
(Photo Source: Twitter)

नए नए खिलाड़ियों को मौका देने के लिए बीसीसीआई ने आईपीएल जैसे खेल का शुभारंभ किया था और लेकिन आईपीएल के खेल में धीरे-धीरे कई तरह के विवाद भी होने लगे आईपीएल में पैसों का खेल होने लगा. और आईपीएल की तर्ज पर एक एनजीओ ने एक ऐसे टूर्नामेंट का आयोजन किया जिसमें बीपीएल परिवार के लोग क्रिकेट में भाग ले सकते हैं. ताकि गरीब खिलाड़ी भी आगे बढ़कर देश का नाम रौशन कर सके.

पीपुल राईट एंड सोशल रिसर्च सेंटर नाम की एक एनजीओ ने इस लीग की शुरुवात की थी. इस एनजीओ का मकसद था गरीब और आर्थिक रूप से पिछड़े क्रिकेटरों को आगे बढ़ने का मौका देना ऑडी असली का नाम रखा गया सुदामा प्रीमियर लीग. इसलिए कि शुरुआत देश की राजधानी दिल्ली में की गई जिसमें सभी खिलाड़ी गरीब परिवार से आते हैं. और असली के उद्घाटन समारोह में भारतीय टीम के पूर्व खिलाड़ी कपिल देव भी शामिल हुए थे.

लेकिन सुदामा प्रीमियर लीग को बीसीसीआई ने अवैध करार कर दिया है. दरसअल बीसीसीआई की अनुमति के बगैर कोई इस तरह की टूर्नामेंट का आयोजन नही करा सकता है. और बीसीसीआई ने ऐसी कोई लीग की अनुमति नही दी है. बीसीसीआई पहले भी इस तरह की कई लीग को अवैध घोषित करार दे चुका है.

टूर्नामेंट का स्वरूप: इस टूर्नामेंट में 16 टीम के भाग लेना है. और हर टीम में 15 खिलाड़ी चुना जाएगा. जिसमे 4 खिलाड़ी आर्थिक रूप से पिछड़े होंगे. फाईनल टीम में 2 बीपीएल खिलाड़ी होंगे 16 टीमों को चार चार ग्रुपों में बांटा गया है. ग्रुप की हर 2-2 टीमें क्वार्टर फाइनल तक पहुँचेगी. और इस लीग के ज्यादातर मैच दिल्ली में होने हैं. 

Imran Khan (Photo Source: Twitter)

इमरान खान की तीसरे शादी के बाद ट्विटर पर जमकर उड़ रहा उनका मजाक

Manjot Kalra. (Photo Source: Twitter)

मुझे इस बात की उम्मीद नहीं थी कि आईपीएल नीलामी के दौरान कोई टीम मुझे खरीदेगी – मनजोत कालरा