'मांकडिंग' को लेकर चल रहे विवाद पर अब पूर्व भारतीय क्रिकेटर वसीम जाफर ने दिया बड़ा बयान - क्रिकट्रैकर हिंदी

‘मांकडिंग’ को लेकर चल रहे विवाद पर अब पूर्व भारतीय क्रिकेटर वसीम जाफर ने दिया बड़ा बयान

इसमें कोई गलत बात नहीं है कि आप नॉन स्ट्राइकर एंड के बल्लेबाज को बिना चेतावनी दिए रन आउट कर सकते हैं: वसीम जाफर

wasim jaffer (pic source-twitter)
wasim jaffer (pic source-twitter)

25 अक्टूबर को पर्थ में खेले गए ICC टी-20 वर्ल्ड कप 2022 के मुकाबले में मेजबान ऑस्ट्रेलिया ने श्रीलंका को 7 विकेट से मात दी। इस मुकाबले में ऑस्ट्रेलियाई ऑलराउंडर मार्कस स्टोइनिस ने 18 गेंदों में 59* रन की आक्रामक पारी खेल अपनी टीम को जीत दिलाई और ‘प्लेयर ऑफ द मैच’ अवार्ड अपने नाम किया।

इसी मैच में ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज मिचेल स्टार्क ने श्रीलंका के बल्लेबाज धनंजय डी सिल्वा को कड़ी चेतावनी दी जो उनके हिसाब से लगातार नॉन स्ट्राइकर एंड की क्रीज से बाहर निकल रहे थे। MCC के नए नियम के मुताबिक गेंदबाज बिना चेतावनी दिए नॉन स्ट्राइकर एंड के बल्लेबाज को रन आउट कर सकता है अगर वो अपनी क्रीज़ के बाहर है तो। अब इसी को लेकर भारत के पूर्व बल्लेबाज वसीम जाफर ने अपना पक्ष सबके सामने रखा है।

नॉन स्ट्राइकर को आउट करने को लेकर वसीम जाफर ने कहीं यह बात

भारत के पूर्व क्रिकेटर वसीम जाफर और ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज स्टुअर्ट लॉ ने इस मामले पर अपना-अपना पक्ष रखा।

वसीम जाफर ने क्रिकट्रैकर के शो ‘रन की रननीति’ में कहा कि, ‘इसमें कोई गलत बात नहीं है कि आप नॉन स्ट्राइकर एंड के बल्लेबाज को बिना चेतावनी दिए रन आउट कर सकते हैं। यह बल्लेबाज की जिम्मेदारी है कि वो क्रीज के अंदर रहे। इसको लेकर ज्यादा बातचीत नहीं होनी चाहिए। इसे मैं धोखाधड़ी नहीं कहूंगा लेकिन अगर बल्लेबाज इसका फायदा उठा रहा है तो गेंदबाज को भी थोड़ा बहुत फायदा मिलना चाहिए।’

स्टुअर्ट लॉ ने भी इसी मामले पर अपना पक्ष रखा और वसीम जाफर की बात पर सहमति जताई। स्टुअर्ट लॉ ने कहा कि, ‘खेल अब पहले से काफी बदल चुका है और अब वो एक नई दिशा की ओर बढ़ रहा है। पहले यह कई सालों में एक बार हो जाया करता था लेकिन अब MCC के नियम में इसे लिख दिया गया है और लागू भी कर दिया गया है। अब गेंदबाज के पास भी पूरा हक है बल्लेबाज को आउट करने का।

जब तक गेंद नहीं फेंकी जाती तब तक नॉन स्ट्राइकर एंड के बल्लेबाज को क्रीज से बाहर निकलने की कोई जरूरत नहीं है। पहले की बात और थी अब की बात कुछ और है। अब अगर आप ऐसा करते हैं तो आप एक ‘बेवकूफ’ खिलाड़ी हैं।’